TechnologyTutorial

वोडाफोन का मालिक कौन है ? और यह कहा की कंपनी है ?

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हेल्लो दोस्तों आज हम बात करेगे वोडाफोन का मालिक कौन है? और वोडाफोन की सभी जानकरी आप को इस आर्टिकल में मिलने वाली है आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा रीड कर सकते है

वोडाफोन आज के समय में सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी में से एक मानी जाती है व आज भारत में भी इसके कई सारे यूजर है पर अधिकांश लोगो को इसके बारे में जानकारी नहीं होती की वोडाफोन किस देश की कंपनी है तो हम आपको आज वोडाफ़ोन कंपनी के बारे में पूरी जानकारी बतायेगे व इसके साथ ही अन्य कई जानकारी भी आपको बतायेगे जिससे की आपको वोडाफोन से सम्बंधित पूरी जानकारी प्राप्त हो सके।

वोडाफोन का मालिक कौन है ?

वोडाफोन कंपनी का गेर्री व्हेंट और अर्नेस्ट हैरिसन है. इस कंपनी की शुरुआत 1982 में न्यूबुरी, इंग्लेंड से हुई थी। वोडाफोन ग्रुप इंग्लेंड की कंपनी है जिसकी सालाना कमाई करीब 4500 करोड़ यूरो है। वोडाफोन की पॉपुलैरिटी भारत और इंग्लेंड के अलावा अन्य कई देशों में है. इसका नेटवर्क काफी अच्छा है और इसमें आपको एक अच्छी स्पीड के साथ इन्टरनेट देखने को मिल जाता है।

वोडाफोन किस देश की कंपनी है ?

इसके बारे में अक्सर लोग जानना चाहते है की ये किस देश की कंपनी है तो हम बता दे की ये ब्रिटिश की एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है व इस कंपनी का मुख्यालय लंदन और न्यूबरी, बर्कशायर मे स्थित है व अगर हम राजस्व के हिसाब से बड़ी कंपनी की बात करें तो राजस्व के हिसाब से वोडाफोन नौवीं सबसे बड़ी टेलीफोन ऑपरेटिंग कंपनी है व इसके साथ ही वोडाफोन ने अपना सबसे पहला फोन कॉल 1 जनवरी 1985 में यूके में किया था।हाल में ये कंपनी 25 अलग अलग देशो में अपना व्यापार करती है व भारत भी उनमे से एक है भारत में अधिकांश लोग इस कंपनी के कस्टमर है व आज कई लोग वोडाफोन के सिम कार्ड का इस्तमाल भी करते है।

सर अर्नेस्ट थॉमस हैरिसन के बारे में –

इनका जन्म इंग्लैंड के शहर हैकनी में सन्न 11 मई 1926 में हुआ था व इनके पिता डाक मजदूर थे व इनकी माँ एक फैक्ट्री में टाई सिलाई का कार्य करती थी पर कुछ समय के बाद ही इनका परिवार होलोवे नामक स्थान पर आकर बस गया था व इसके बाद इनकी पढाई भी ट्रिनिटी व्याकरण नाम के विधालय में शुरू हो गयी थी।

पढाई पूरी होने के बाद इन्होने नौकरी की तलाश शुरू कर दी व काफी समय तक इनको कोई भी काम नहीं मिला बादमे इनको ब्रिटिश इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी, राकाली में लेखपाल के पद पर नौकरी मिली वहां पर इन्होने £650 के वेतन में कार्य शुरू किया व इसके बाद ये 1958 में इस कंपनी के बोर्ड के साथ जुड़ गए थे व इसके बाद इन्होने 1961 में इस कंपनी का उप प्रबंध निदेशक का पद संभाला व 1966 में वे इसके अध्यक्ष भी रहे व इसके बाद इन्होने राकल टेलीकॉम को बनाने के लिये ब्रिटिश रेल दूरसंचार नेटवर्क को खरीद लिया था व इसी के परिणामस्वरूप वोडाफोन कंपनी की स्थापना हुई थी।

यह भी पढ़े – Vivo कंपनी का मालिक कौन है

सर गेराल्ड आर्थर “गेरी” जब के बारे में –

इनका जन्म भारत के फिरोजपुर में सन्न 1 मार्च 1927 में हुआ था व इनके जन्म के कुछ वर्षो के बाद ही इनका परिवार इंग्लैंड में जाकर बस गया था व इनके चार भाई बहन थे उनमे से ये सबसे छोटे थे इन्होने अपनी पढ़ाई साउथेम्प्टन के सेंट मैरी कॉलेज में पूरी की थी व उसके बाद इनको सन्न 1980 में हैरिसन द्वारा जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी से रेडियो प्रौद्योगिकी का उपयोग करने की डील की तो इसके बाद हैरिसन ने इनको राकल मिलिट्री रेडियो डिवीजन में मुख्य व्यक्ति के रूप में नियुक्त कर दिया।

इसके बाद सन्न 1982 में इनके नेतृत्व में रैकल स्ट्रेटेजिक रेडियो लिमिटेड कंपनी ने इंग्लैंड के सेलुलर टेलीफोन नेटवर्क का लाइसेंस प्राप्त किया इससे वोडाफोन कंपनी की स्थापना करने में काफी सरलता हुई व इसी कारण से वोडाफोन की स्थापना में इनका भी मुख्य योगदान रहा था
हाल में कुछ समय पहले ही वोडाफोन कंपनी ने आइडिया साथ समझौता किया है व इसके तहत भारत में वोडाफोन कंपनी ने आइडिया के साथ मिलकर नया ब्रांड लांच किया है जो की VI के रूप में लांच किया है इससे इंटरनेट यूजर को पहले से काफी बेहतरीन इंटरनेट स्पीड मिलेगी और आइडिया और वोडाफोन के यूजर को पहले की तुलना में काफी अधिक और बेहतरीन फीचर भी मिलेंगे।

वोडाफोन का सबसे पहला नाम क्या था ?

वोडाफोन का सबसे पहले नाम हच था .-, (विकास एक राकाल टेलीकॉम ब्रांड के रूप में: 1991 करने के लिए 1980) है। इस बैठक में 1991 में मनाए जाने पर भी ऐसा ही रहा। भारत में व्यापार शुरू करने और सभी प्रकार के व्यवसायिक अधिकार के लिए हच एस्सार (हच एस्सार)नामक कंपनी को खरीदने के लिए। इसने नाम इसे बाद में डायल करें इंडिया एलटीडी नाम से रजिस्टर्ड।

वोडाफोन का पूरा नाम क्या है?

वोडाफोन एक ग्लोबल टेलीकॉम कंपनी है जिसका मुख्यालय लंदन में है। ” वोडाफोन ” नाम टेलीकम्यूनिकेशन के कुछ आधारभूत शब्दों से लिया गया है – VOICE , DATA, TELEFONE .

हाल ही में भारत में वोडाफोन इंडिया का आईडिया सेलुलर का विलय हो चुका है जिसके बाद ये देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन गई है। विलय के बाद इसका नया नाम ” वोडाफोन आईडिया लिमिटेड ” रखा गया है।

वोडाफोन से जुड़ा इतिहास

वोडाफोन में अग्रणी मोबाइल संचार में हमारा 23 साल का असाधारण इतिहास है। यहाँ अब तक के कुछ मुख्य आकर्षण हैं। 1982 में रैकल रेडियो ग्रुप के अध्यक्ष के रूप में, गेराल्ड व्हेनट के पास रैकल इलेक्ट्रॉनिक्स ग्रुप बोर्ड को यह समझाने की दृष्टि और दृढ़ता थी कि उसे निजी क्षेत्र के यूके सेलुलर लाइसेंस के लिए बोली लगानी चाहिए जो उस समय यूके सरकार द्वारा पेश किया जा रहा था। व्हेन्ट ने सफल बोली में महारत हासिल की, और रैकल टेलीकॉम डिवीजन की स्थापना की। मोबाइल फोन पर वॉयस और डेटा सेवाओं के प्रावधान को दर्शाने के लिए वोडाफोन को नेटवर्क के नाम के रूप में चुना गया था।

वोडाफोन एनालॉग नेटवर्क 1 जनवरी 1985 को लॉन्च किया गया था, लंदन में सेंट कैथरीन डॉक से न्यूबरी के लिए पहली कॉल की जा रही थी। यह यूके में लॉन्च होने वाला पहला सेलुलर नेटवर्क था

शुरुआत में: 1982-1990

  • 1987: वोडाफोन को दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल संचार कंपनी के रूप में स्वीकार किया गया।
  • 1988: रेकल टेलीकॉम पीएलसी फ्लोट।
  • 1989: नेटवर्क का निर्माण।

नेटवर्क कवरेज और क्षमता में वृद्धि जारी है। किसी भी खराबी के प्रभाव को कम करने के लिए एक बैक-अप नेटवर्क की शुरुआत की गई है।

शुरुआती दिन: 1991-1996

  • 1991: रैकल और वोडाफोन का विलय। वोडाफोन समूह लंदन और न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंजों में एक स्वतंत्र कंपनी के रूप में सूचीबद्ध है।
  • 1993: पहला हाई स्ट्रीट वोडाफोन स्टोर खुला। कंपनी ने यूके के एक प्रमुख हाई स्ट्रीट रिटेलर धूमकेतु के साथ अपने पहले वितरण समझौते की भी घोषणा की।
  • 1994: डेटा, फैक्स और एसएमएस डिजिटल सेवाएं शुरू की गईं। डिजिटल नेटवर्क पर इन सेवाओं को लॉन्च करने के लिए वोडाटा यूके में पहला नेटवर्क ऑपरेटर बन गया।
  • 1996: वोडाफोन यूके में पहली बार पे एज़ यू गो एनालॉग पैकेज लॉन्च करने वाली कंपनी है। इसके लिए किसी अनुबंध और क्रेडिट जांच की आवश्यकता नहीं है।

गोइंग ग्लोबल: 1997-1999

  • 1997: एक नई पहचान
  • 1997: एक नई पहचान
  • 1998: एक नया अध्यक्ष वोडाफोन न्यूजीलैंड जीएसएम नेटवर्क खरीदता है।
  • 1999: वोडाफोन एयरटच बनाया गया: 21वीं सदी में विकास के लिए एक इंजन। वोडाफोन एयरटच 30 जून 1999 को वोडाफोन ग्रुप और यूएस ग्रुप एयरटच कम्युनिकेशंस इंक के बीच विलय से बना है।

मूल्य जोड़ना: 2000-2003

  • 2000: वोडाफोन ने जर्मन कंपनी मैन्समैन एजी के हिस्से का अधिग्रहण किया। Mannesmann Mobilfunk और Omnitel Pronto Italia दोनों में हमारी प्रभावी रुचि क्रमशः लगभग 99.1% और 76% तक बढ़ गई है।
  • 2001: वोडाफोन ने आयरलैंड की अग्रणी मोबाइल संचार कंपनी, ईरसेल का अधिग्रहण किया। वोडाफोन ने अगस्त की शुरुआत में अपना पहला वैश्विक संचार अभियान शुरू किया। अभियान में टीवी, सिनेमा, प्रिंट, ऑनलाइन और आउटडोर मीडिया शामिल हैं, प्रत्येक संस्करण सवाल पूछता है, “आप कैसे हैं?”। वोडाफोन शब्द की पहली 3G रोमिंग कॉल (स्पेन और जापान के बीच) करके वर्ष समाप्त करता है।
  • 2002: वोडाफोन ने यूके, इटली और जर्मनी में अपनी वैश्विक मोबाइल भुगतान प्रणाली का परीक्षण किया। परीक्षण ग्राहकों को अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके भौतिक और डिजिटल सामान खरीदने में सक्षम बनाता है।
  • 2003: ऑस्ट्रिया, क्रोएशिया और स्लोवेनिया में वोडाफोन की वैश्विक सेवाओं को पेश करने के लिए मोबिलकोम ऑस्ट्रिया समूह के साथ एक समूह-व्यापी पार्टनर नेटवर्क समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।
  • आइसलैंड में वोडाफोन की वैश्विक मोबाइल सेवाओं को पेश करने के लिए आइलैंड्सिमी एचएफ (पूर्व में मर्ज की गई कंपनियां आइलैंड्सिमी और ताल) के साथ एक पार्टनर नेटवर्क एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए गए हैं. जुलाई में, Vodafone ने अपने मोबाइल समुदाय को Bite GSM के साथ पार्टनर नेटवर्क समझौते के माध्यम से लिथुआनिया में विस्तारित किया।वोडाफोन शेष 20% वोडाफोन माल्टा लिमिटेड का अधिग्रहण करता है।

वोडाफोन कंपनी क्यों बंद हो रही है ?

मौजूदा हालत इस कंपनी के लिए बहुत अच्छे नहीं हैं। एक तो ये कंपनी AGR एवरेज ग्रॉस रेवेनुए के दबाव में है दूसरी तरफ इस कंपनी के पास पर्याप्त पैसे नहीं है की के उसे चूका सके। अगर सर्कार किसी तरह की रिआयत दे तो यह कमपनी बच सकती है अन्यथा हालत तो आछे संकेत नहीं दे रहे।

वोडाफ़ोन के बारे अक्सर पुछे जाने वाले सवाल

संचार निगम की जानकारी है?

कोर्क्स बर्कशायर, यूनाइटेड किंगडम में है।

वोडाफोन की स्थापना ?

वोडाफोन की स्थापना 1982 में न्यूबरी, यूनाइटेड किंगडम से संबंधित थी।

राज्य देश की कंपनी है?

वोडाफोन ग्रुप इंग्लैण्ड की मिलनेशनल टेलीकम्यूनेक्शन कंपनी है। जो सेवा पूरी तरह से काम करती है।

वोडाफोन का ओनर कौन है?

इस कंपनी का मालिक गेरी व्हेनट और अर्नेस्ट हैरिसन है। इन लोगों ने संक्रमितों की जांच की।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Riya Chand

पेशे से इंजीनियर👩‍💻 दिल से लेखक❤✍ मेरे ब्लॉग सिर्फ शब्द नहीं हैं वो मेरे विचार हैं📖💫 मैं चाईबासा जैसे छोटे शहर से ताल्लुक रखती हूं लेकिन मेरे सपने छोटे नहीं हैं💭🤞 मैं जहां भी जाती हूं, वहां एक चमक छोड़ जाती हूं 🌠💕

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button