रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है. रक्षाबंधन कब है ?

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

क्या आप जानते है रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ? क्या आप इस पावन पर्व का इतिहास जानते है ?

चलिए आज हम आपको बताते है रक्षाबंधन क्या है और रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है। रक्षाबंधन हमारे देश का एक महत्वपूर्ण पर्व है, जो भारत के कई सारे हिस्सों में मनाया जाता है। रक्षाबंधन शब्द में आपको इस त्यौहार का अर्थ मिल जाएगा – अपने रक्षा हित किसी से बंध जाना। यह त्यौहार खास तौर पर भाई बेहेन के बंधन को दर्शाता है। इस दिन बहन अपने भाई को एक पवित्र धागा बांधती है और भाई अपने बेहेन की रक्षा हेतु वचन देता है।

रक्षाबंधन का इतिहास

हम आपको तीन घटनाए बताएंगे जिससे आपको आघात होगा की यह त्यौहार हमारे प्राचीन काल से कितना प्रचलित था ।

भगवन इंद्र की कहानी

कहाँ जाता है एक बार देवताओं और असुरों में युद्ध छिड़ गई थी , तब बलि नाम के राक्षस ने इंद्र देव को पराजित कर दिया और अमरावती पर कब्ज़ा कर लिया। तब इंद्र की अर्धांगिनी ने भगवान विष्णु से मदद मांगने का निर्णय लिया। इंद्र देव की पत्नी साची भगवान विष्णु के पास मदद लेकर गई तब भगवान विष्णु ने उन्हें एक सूती धागा दिया जो उन्होंने साची को मंत्र और शक्ति से बना गठबंधन भगवान इंद्र को बांधने का आग्रह दिय। इसे इंद्र ने अपने कलाई में पहन लिया और फिर असुर बलि से दोबारा युद्ध कर अमरावती हासिल की।

श्री कृष्णा और द्रौपदी की कहानी

श्री कृष्णा और राजा शिशुपाल में जब लड़ाई हुई थी तब श्री कृष्णा के हाथ में काफी चोट आ गई थी। तब द्रौपदी ने अपने साड़ी का एक हिस्सा फाड़कर श्री कृष्णा के जख्मी कलाई पर बाँध दी थी। तब यह देखकर कृष्ण भगवान ने द्रौपदी को अपनी बहन का दर्जा दिया और उन्हें वादा किया कोई भी कठिन समय आए तुम पर तब मुझे याद करना। तभी जब भरी सभा में द्रौपदी का चिर हरण करने का आदेश मिला तब उनके पतियों ने भी धरम से बंधकर उनकी मदद करने नहीं आए। तब उन्होंने श्री कृष्णा को पुकारा और भगवान स्वयं अपनी बहन को बचाने आ गए। इसके बाद भी जभी द्रौपदी को कोई तकलीफ पहुंची, तब भगवान कृष्ण ने अपने भाई होने का फ़र्ज़ पूरा अदा किया।

तुलसी और नीम का गठबंधन

क्या आपको इस रसम की खबर है? यह हमारे प्राचीन समय से चली आ रही एक पर्व है। हमारे पूर्वज रक्षाबंधन के दिन प्रातः पहले तुलसी के पेड़ और नीम के पेड़ को एक पवित्र धागा बांधते थे। फिर इन दोनों पेड़ों की पूजा कराइ जाती थी, उसके बाद बेहेन अपने भाई की कलाई पर यह धागा बांधती थी। तुलसी और नीम के पेड़ के इस गठबंधन को वृक्ष-रक्षा बंधन कहाँ जाता था। हम प्रकृति की रक्षा हेतु यह गठबंधन की रसम करते थे । लेकिन धीरे धीरे ये परम्परा समाप्त हो गई।

रक्षाबंधन क्यों मनाते है ?

आपको हमने कुछ घटनाये बताई जिससे रक्षाबंधन का इतिहास बना। यह त्यौहार पुरे भारतवर्ष में काफी सदियों से इतना प्रचलित है की आज भी भाई बेहेन दोनों अगर देश के अलग अलग हिस्से में रहते हो तो इस त्यौहार में दोनों ही साथ मिल जाते है। न बेहेन अपनी राखी भूलती है और न भाई अपनी कलाई सुनी छोड़ता है। रक्षाबंधन सिर्फ भाई बेहेन का त्यौहार नहीं है , इसमें आप अपने दोस्त , टीचर, माँ , पापा , नानी, दादी को भी राखी बांदकर इस बंधन को निभा सकते है। यह गठबंधन एक दूसरे की रक्षा करने का प्रतीक है।

रक्षाबंधन पर्व हिन्दू संस्कृति में ही मनाई जाती है। हमारे देश के उत्तर ,पश्चिम, पूरब राज्यों में रक्षाबंधन का काफी महत्व है , दक्षिण में भी कहीं राज्यों में इस पर्व का बोलबोला है। यही नहीं हिन्दू संस्कृति के लोग जो विदेश में है , वहा पर भी इस त्यौहार को बहुत प्यार से मनाया जाता है।

जैन धर्म में जैन पंडित अपने शिष्यों को रक्षा हेतु यह धागा कलाई में बांधते है। इस धर्म में भी इस पर्व का काफी महत्व है।

सिख धर्म में – इस त्यौहार को राखरि कहाँ जाता है। सारे सिख भाई राखरि के दिन अपने बहेनो के घर राखी बंधवाने आ जाते है।

रक्षाबंधन कब मनाई जाती है 2021?

राखी का त्यौहार सावन के महीने में पूर्णिमा के शुभ दिन पर हर साल मनाई जाती है। इस साल 2021 की बात करे तो रक्षाबंधन इस बार 22 अगस्त को मनाया जाएगा और राखी का यह शुभ दिन इस साल गुरुवार को पड़ेगा । शुभ मुहूर्त की बात करे तो इस दिन बेहेन अपने भाइयों को 5.49 की सुबह से लेकर शाम 6.00 बजे तक कभी भी राखी बाँध सकती है।

रक्षाबंधन के यानि गूगल पर काफी बार पूछे गए सवाल और जवाब। हम आपको पांच प्रमाण और पॉपुलर सवालों के जवाब बताएंगे।

पहले तीज पड़ेगा या रक्षाबंधन

2021 मे तीज 11 अगस्त , बुधवार 2021 को पड़ेगा और यह राखी के त्यौहार से 11दिन पहले पड़ेगा। राखी का दिन 22 अगस्त , 2021 को पड़ेगा जो हमने आपको पहले ही बताया है। दोनों में अंतर यह है की हरियाली तीज हिन्दू धर्म के अनुसार विवाहित महिलाए अपने पति के लम्बी उम्र के लिए व्रत रखती है और राखी के दिन बेहेने अपने भाइयो के लिए दुआएं मांगती है। हरियाली तीज हिन्दू पंचांग के अनुसार हर वर्ष श्रावण महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीय को मनाई जाती है।

राखी का मार्किट कहाँ है

ऐसे तो लगभग हर दूकान में आपको राखी मिल जाएगी , चाहे वो किराना स्टोर्स हो या कपडे की दूकान हर कोई इस त्यौहार में दूकान पर राखियाँ लगाता है। सब इस माह व्यापार में लगे रहते ह। पर इन रखियो का होलसेल मार्किट जो काफी प्रसिद्द है , सारे दुकानदार छोटे या बड़े यही से होलसेल में खरीदते है। कुछ प्रमुख मार्किट है , दिल्ली सरदार मार्किट , सूरत छोटा बाजार , अहमदाबाद श्री मार्केट।

हरयाणा पंजाब जैसे उत्तर भारत में रक्षा बंधन को क्या कहते है

वैसे इस पर्व का हर राज्य में अलग अलग नाम है , लेकिन रक्षाबंधन इस त्यौहार का मूल रूप से नाम है। हरयाणा और पंजाब में इसे राखरि के नाम से मनाया जाता है और उत्तर भारत में यह त्यौहार श्रावण रक्षाबंधन से प्रसिद्ध है।

क्या रक्षाबंधन के दिन मार्केट डाउन रहेगा

हर साल रक्षाबंधन से पहले ही काफी भीड़ लगती है मार्केट में , लोग मिठाइयां, राखी , चॉकलेट्स, कपडे , भेट लेने आते है। बारिश में भी मार्केट पूरा रहता है, पूरी चहल पहल लगी रहती है। लेकिन पिछले साल मार्केट को कोरोना की वजह से काफी नुक्सान हुआ था। सरकार ने मार्केट बंद करने का आदेश दिया था जिसके वजह से कोई त्यौहार मनाया नहीं गया। इस साल भी अनुमान है की मार्केट ठंडा ही रहेगा। लेकिन पिछले साल से बेहतर रहेगा क्यूंकि इस साल सिर्फ कन्टेनमेंट जोन यानि जहाँ ज्यादा कोरोना के केसेस है बस वही मार्केट बंद रहेगी।

रक्षाबंधन वाले दिन क्या बारिश रहेगी

2021 इस साल अगस्त की बात करें तो बारिश पुरे महीने होने की संभावना है और काले बादल छाए रहेंगे । मौसम विभाग के अनुसार रक्षाबंधन जो की 22 अगस्त के दिन होगा , उस दिन भी बारिश होने का अनुमान है।

क्या रक्षाबंधन के दिन ग्रहण पड़ेगा

इस दिन 22 अगस्त कोई ग्रहण नहीं पड़ेगा और न ही होगा कोई अशुभ भद्रा। इस दिन आप सुबह 5 बजे से शाम 6 बजे तक राखी बाँध सकते है और यह शुभ मुहूर्त का समय है।

राखी किस हाथ पर बांदी जाती है

हिन्दू धर्म में राखी दाई और बाँधी जाती है और इसे शुभ माना जाता है

राखी के दिन कोनसे भगवान की पूजा करते है

राखी के दिन हम भगवान इंद्र , वरुणा और रक्षा की पूजा करते है

राखी को कलाई में कब तक बांधनी चाहिए

राखी को आप कितने भी दिन कलाई पर रख सकते है लेकिन प्राचीन काल से मान्यता है की जन्माष्टमी तक राखी हम अपने कलाई पर रख सकते है।

भारत के अलावा और कोनसे देशो में राखी मनाई जाती है ?

भारत के अलावा राखी का त्यौहार नेपाल, मॉरिशस में बनाई जाती है।अन्य देश जैसे अमेरिका, कनाडा , ऑस्ट्रेलिया आदि जहाँ पर हिन्दू रहते है वह पर बनाया जाता है।

क्या रक्षाबंधन में मार्केट खुलेगा

हाँ मार्केट खुली रहेंगी लेकिन मास्क पहनना और सेनिटाइज़र साथ में रखना काफी जरुरी है और सावधानी बरतनी है। रेड जोन यानि जहाँ कोरोना ज्यादा है वह मार्केट बंद रहेगी जो हमने आपको ऊपर की जानकारी में बताई है ।

हमारे इस आर्टिकल में हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद। आशा है आपको इस आर्टिकल से काफी लाभ हुआ होगा और इस त्यौहार ( रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ) की काफी जानकारी आपको मिली होगी। हमारे त्यौहार हमारी पहचान है और इनकी जानकारी रखना हमारे लिए काफी आवश्यक है।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply