Digital Marketing

PPC क्या है पूरी जानकरी 2022 | PPC Kya Hai

Share Now

नमस्कार दोस्तों, स्वागत करता हूँ आपका मेरे इस ब्लॉग पर उम्मीद करता हूँ आप अच्छे ही होंगे आज फिर आपके सामने आया हूँ एक जबरदस्त जानकारी के साथ, पहले में आपको बता दूं. यह आर्टिकल आपके लिए बहुत  खास होने वाला है अगर आप ऑनलाइन मार्केटिंग या डिजिटल मार्केटिंग करते हैं तो  आप जानते ही होंगे की आजकल सभी चीजें ऑनलाइन होते जा रहे हैं मेरा कहना का मतलब है सभी बिज़नस ऑनलाइन होना  चाहते हैं. ऐसे में यदि आप एक डिजिटल मर्केटर है तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरुर पड़ना चाहिए क्योंकि आज हम इस आर्टिकल में जानने वाले हैं  PPC क्या है, PPC के फायदे क्या है और PPC का Full Form क्या है?  मै कोशिश करूँगा की आसान शब्द में आपको जानकरी देने के लिए, ताकि आपको कहीं और इसके बारे में जानकरी लेने की जरुरत ना पड़े. तो चलिए आज के टॉपिक को शुरू करते हैं.

PPC क्या है | PPC Kya Hai

यह एक इन्टरनेट में मार्केटिंग करने का एक मेथड होता है जो एक डिजिटल मर्केटर को करना होता है इन्टरनेट में किसी भी वास्तु को बेचने के लिए. ppc का पूरा नाम Pay Per Click होता है यह मेथड तब यूज़ होता है जब कोई डिजिटल मर्क्टर अपने वेबसाइट पर कोई भी प्रोडक्ट को बेचना होता है तब  वो किसी भी सर्च इंजन (गूगल, yahoo) पर  adds देखा कर अपने वेबसाइट में कस्टमर को लता है.

अपने इन्टरनेट इस्तिमाल करने के दोरान एक चीज जरुर नोटिस किया होगा  कि जब आप इन्टरनेट में कोई भी टॉपिक को search करते हैं तो आपको वहाँ दो तरह के कीवर्ड दिखाई देते हैं एक होता है Organic Result और दूसरा होता है Adds  result. अगर आप नहीं  जानते हैं कि organic रिजल्ट और ऐड रिजल्ट, तो मै आपको बता दूं जब कोई डिजिटल मर्केटर  बिना पैसे लगाए अपने वेबसाइट में ट्राफिक यानि कस्टमर को लता है तो उससे Organic रिजल्ट कहते हैं जबकि वही ट्राफिक या कस्टमर अपने वेबसाइट में ऐड दिखर लता है तो उससे add रिजल्ट या paid ट्राफिक कहते हैं.

अब आपके मन ये सवाल आ रहा होगा कि यदि हम बिना पैसे लगाए वेबसाइट में ट्राफिक को ला सकते हैं, तो हमें add दिखने की क्या जरूरत है, हमारा काम तो free में भी हो जाता  है? तो मैं  बता दूं सवाल बिलकुल सही है हमरा काम free में भी हो जाता है, लेकिन आज इन्टरनेट में इतना कम्पटीशन हो गया है जिस वजह से हमें add दिखानी की जरूरत होती है ताकि हमें जल्दी से कस्टमर मिले. हालंकि, free में भी ट्रैफिक या कस्टमर को ला सकते हैं जिसके लिए हमें अपने वेबसाइट को SEO करना होता है, लेकिन इसमें बहुत समय लगता है किसी भी सर्च इंजन में सबसे पहले आने में. इसलिए इसके जगह ऐड का उपयोग किया जता है.

PPC कैसे काम करता है

दोस्तों, ऊपर हमने जाना PPC क्या है और इसका पूरा नाम क्या होता. अब हम यहाँ जानेगें कि यह पीसीसी  कैसे काम  करता  हैं. जैसे की मैंने आपको ऊपर बता चूका हूँ कि  हमें अपने वेबसाइट में कस्टमर को लाने  के लिए,  हम  सर्च इंजन या किसी सोशल मीडिया एप्प में  ऐड को दिखाते हैं. जब हम ऐड को दिखाते हैं तो हमें ऐड दिखने के लिए AD नेटवर्क को पैसे देने होते हैं और यह इस तहर काम करता है जैसे: मानलीजिये  हम गूगल अद्वार्ड को यूज़ करते हैं सर्च इंजन में सबसे ऊपर रैंक करें  के लिए तो यह adward हमसे पैसे लेते है यूजर दवारा पर्तेक क्लीक पर. जितन बार कोई यूजर उस add पर क्लीक करता है उस हिसाब से यह हमसे पैसे लेते हैं. यहाँ पर ये बताना मुश्किल है की एड्स  नेटवक एड्स  को किसी सर्च इंजन या कसी सोशल मीडिया एप्प में एड्स दिखाने के लिए कितने पैस एड्स नेटवर्क को पे करना होगा यह कीवर्ड,लोकेशन और एड्स प्रकार पर निभर करता है.

PPC कितने प्रकार के होते हैं

वैसे तो PPC एड्स कई प्रकार के होते हैं जिसके बरे में हम यहाँ विस्तार से जानने वाले हैं. आपसे अनोरध करूँगा कि PPC के बारे में पूरा जानकरी लेने के लिये, इस आर्टिकल को पड़ना जरी रखे.

Search Advertising

यह इस तरह का एड्स होता है जो सर्च इंजन में दिखता है जैसे अपने देखा होगा जब आप गूगल में कोई भी क्वेरी को सर्च करते हैं, तो आपको गूगल के सबसे top पर अपको एड्स दिखता  है. अगर आप सर्च इंजन में एड्स लगते हैं,तो आपको एड्स सबसे ऊपर दिखेगा और जब  कोई भी यूजर गूगल क्वेरी को सर्च करता है तो आपका कीवर्ड सबसे ऊपर दिखेगा जहाँ यूजर क्लीक करता है आपके वेबसाइट पर जाता है.

Google shopping 

यह एड्स इस तरह काम करता है  मानलीजिये आपका  एड्स t-शर्ट का है और कोई भी यूजर “t-shirt”  गूगल में सर्च करता है तो   सर्च रिजल्ट  में ही आपका प्रोडक्ट दिखेगा  उससे किसी भी वेबसाइट पर क्लिक करने की जरूरत नहीं होता है. जैसे आप नीचे फोटो पर देख पा रहे हैं इस तरह का एड्स खास करके ecomerce वेबसाइट के लिए काम आता है.    

Display Ads

इस तरह की एड्स में इमेज के साथ text होता है. अपने अक्सर देखा होगा, जब आप किसी ब्लॉग पर आर्टिकल को पड़ते हैं तो वहाँ आपको कुछ एड्स दिखता. वह डिस्प्ले एड्स ही होता है.

Social Media Advertising

आप मोबाइल में सोशल मीडिया एप्प जरूर  उपयोग करते ही होंगे जैसे फसेबूक, twitter,instagram इत्यादि तो उसमे एक एड्स होता है जैसे आप निचे फोटो पर देख रहे हैं, उसे को ही सोशल मीडिया एड्स कहते हैं. दोस्तों, गूगल जैसा  ही सोशल मीडिया एप्प पर  एडवरटाइजर को एड्स लगाने का आनुमति देता है जहाँ एडवरटाइजर अपना एड्स चला सकते हैं.

Remarkting

रेमार्केटिंग को retargeting के नाम से भी जाना जाता है  यह एक तरह का एड्स होता है जो बहुत ही समान्य और लोकप्रिय भी है. यह इस तरह काम करता है जब कोई विजिटर उस एड्स पर क्लीक करता है और वेबसाइट पा चला जाता है और उस प्रोडक्ट को देखता है, लेकिन उसे नहीं खरीदता है. फिर जब विजिटर कही पर भी जाता है किसी भी वेबसाइट में, तो उससे वही एड्स सो होता है या फिर उससे रिलेटेड.

Video Ads

इस तरह का एड्स भी आजकल काफी पोपुलर है ऑनलाइन मार्किंग में. ये जो वीडियो एड्स होता है ये दो तरह का होता है जब आप youtube में विडियो को देखते हैं तो अपने जरुर देखा होगा कि वहां पर दो प्रकार के एड्स आते हैं एक होता जिससे आप skip कर सकते हैं और दुसरे वो होता है जो skip करने का आप्शन नहीं मिलता है.दोस्तों, यह वीडियो एड्स youtube के आलावा दुसरे प्लेटफ़ॉर्म में भी किया जा सकता है.

Gmail Sponsored Ads

इस तरह का एड्स आपको अपने में Gmail बॉक्स में देखने को मिल जाता है. जब आप अपने ईमेल बॉक्स को ओपन करते हैं उसके बाद जब आप इनोब्क्स में जाते हैं और Social पर क्लीक करते है तो आपको वहाँ यह एड्स दिखाई देता है. यहाँ पर आपको वही एड्स दिखाते है जिस प्रोडक्ट में आपका  रूचि है.

PPC के फायदे क्या है

जैसे मेने आपको यह पहले ही बता चूका हूँ कि यह एक तरह का एड्स चलने का एक मेथड होता है और आप समझ गए होंगे अब हम यहाँ जानेगे इसके क्या-क्या फायदे है ? वैसे तो इसेक कई सरे फायदे हो सकते हैं जिसके बारे में हम अच्छे से जानने वाले हैं.

कम समय में बिज़नस ग्रो करे– यह बहुत बड़ा फायदा है एक ऑनलाइन बिज़नस के लिय, अगर आप एड्स में अपना प्रोडक्ट को प्रोमोट करते हैं तो   कुछ दिन के अन्दर आपका बिज़नस ग्रो हो जाता है.जैसे की आप जानते ही होंगे कि आजकल कोई भी वेबसाइट को नो 1पर  रैंक में लाना कितना मुश्किल है, वही अगर आप ppc यानि paid per click को अपनाते हैं तो आपका वेबसाइट जल्दी 1 पोजीशन में रैंक होने लगता है जिससे आप कई  सरे विजिटर  को पा सकते हैं. तो यह एक फायदे है पीसीसी का.

PPC Ads से बड़ावता मिलती है – PPC एड्स आपको सही लोगों तक पहुचने का अनुमति तब देती है जब वे एक्टिव होते हैं और आपके दवारा बेचीं जा रही प्रोडक्ट  को खोज रही होती है. यह आपके प्रोडक्ट को उन यूजर की बीच लाने में समक्षम होती है जिससे वास्तव में उस प्रोडक्ट की रूचि है और उससे ख़रीदन चाहते हैं.

PPC एड्स किसी अल्गोरिथम पर निर्भर नहीं रहता है – जैसे कोई ब्लोगेर होता है अगर उसका कंटेंट ना पसंद के बराबर है तो उसका कंटेंट भी रैंक नहीं करता है इसके आलावा अगर उसका कंटेंट क्वालिटी है और रैंक भी करता है तो उसका कंटेंट SEO अल्गोरिथम अपडेट की वजह से भी रैंकिंग पर effect पड़ता है जिससे उनका रैंक डाउन हो जाता है.लेकिन ppc को रन करते हैं तो उसमे किसी भी प्रकार का कोई भी प्रभाव  नहीं पड़ता है और यह अल्गोरिथम अपडेट होने पर भी आपके PPC में कोई भी इन्फेक्ट नहीं होने वाला है.

बजट– अगर आपके पास एड्स चलने के लिए, जायदा बजट नहीं है तो इसके बावजूद भी आप मार्किंग कर सकते हैं इसके लिए आपको लाखों करोड़ों की जरुरत नहीं होती है आप कम पूंजी में भी अपना प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते हैं.  

PPC का उपयोग

इसका उपयोग हम उस समय करते हैं जब हम कोई भी सर्विस को जल्दी से सेल करने चाहते हैं क्योंकि PPC एक मेथड है जो आपको जल्दी से आपके प्रोडक्ट की चाहने वाले लोगों तक कम दिनों में पहुँच ने की अनुमति देता है.आप इसके जरिये  कम समय में अपने समान को जल्दी से सेल कर सकते हैं. अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए आपको किसी SEO पर निर्भर रहने  की जरूरत नहीं होती है आप जिस ऐज के लोग या जिस क्षेत्र के  यूजर को टारगेट करना चाहते हैं आप इसके जरिये आसानी से कर सकते हैं.

PPC से सम्बंधित कुछ सवाल और जवाब

PPC से सम्बंधित कुछ सवाल और जवाब के उत्तर हम आप को दे रहे है जिसको आप निचे देख सकते है

पीपीसी विज्ञापन कैसे काम करते हैं

जब कोई डिजिटल मरकेटर किसी भी सर्च इंजन या सोशल मीडिया एप्प पर एड्स को रन करता है तो  यूजर के दवारा एड्स पर पर्तेक क्लीक  शुल्क का भुगतान देना होता है.

पीपीसी का अर्थ क्या है

ppc एक तरीका होता है ऑनलाइन मार्कटिंग करने का जिससे नए कस्टमर तक अपना प्रोडक्ट को पहुँचाया जा साके.

PPC का full form क्या है

PPC का फुल Form “Pay Per Click” होता है  

अंतिम शब्द

दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल में जाना PPC क्या है ( PPC Kya Hai ), इसके कितने प्रकार होते हैं और ppc का उपयोग क्या है? उम्मीद करता हूँ आपका यह आर्टिकल पसंद आया होगा. मेरा यही कोशिश रहता है कि आपलोग को आसान शब्द में समझाना ताकि आपको कही इसके बारे में जानकारी लेने के आवश्यकता न रहे. दोस्तों अगर ये आर्टिकल आपके लिए,मददगर साबित हुए तो इससे अपने whatsapp ग्रुप और फेसबुक ग्रुप में शेयर जरुर करे और  ऐसे जानकरी पड़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करे. आपका बहुमूल्य समय मेरे ब्लॉग पर देने के लिए पाक बहुत-बहुत धन्यवाद.


Share Now

Related Articles

Leave a Reply