Pan Card kaise banwaye

Pan Card कैसे बनवाये और कैसे काम करता है

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

pan card kaise banwaye : बैंक में खाता खुलवाना हों या फ़िर आप कोई नया बिजनेस या स्टार्ट अप करने की सोच रहें हों या अपने एक फार्म बनाई हो ऐसे में पैन कार्ड होना बहुत जरूरी होता है अगर नहीं होगा तो सरकार आप से 30% (30 फीसदी) तक टैक्स वसूल सकती हैं और फिर तो आधार को भी पैन कार्ड से लिंक करवाना जरुरी हो गया है। अब तो बिना पैन कार्ड के तो बैंक में खाता ही नहीं खुलता हैं। पैन कार्ड को आप अपनी आइडेंटी यानी पहचान पत्र के रूप में भी दिखा सकते हैं, और सबसे अहम बात ये की टैक्स यानी कर संबंधित सभी कामों के लिए भी पैन कार्ड बहुत जरूरी हैं, तो आज के आर्टिकल में हम आपको बताएंगे की आप ऑनलाइन कैसे आवेदन कर सकते हैं चाहे खुद के लिए हो या आपकी कम्पनी के लिए, ये क्यों और किस किस जगह पर काम आता है।

पैन कार्ड क्या होता हैं?

इसके आवेदन से पहले हमें ये जान लेना बहुत जरूरी है की पैन कार्ड आखिर क्या होता है, क्यों की बहुत से लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती है। पैन कार्ड में अल्फानुमेरिक (Alphanumeric) नंबर होता है 10 डिजिट (नंबर) का होता हैं। जो भारतीय आयकर विभाग (इनकम टैक्स डिपार्टमेंट) द्वारा किसी भी व्यक्ती या कम्पनी को जारी किया जाता है।

पैन (PAN) कार्ड का पूरा नाम परमानेंट अकांउट नंबर (Permanent Account Number) होता है। पैन कार्ड इनकम टैक्स एक्ट 1961 के तहत भारत में पहचान के लिए और सभी न्यायिक संस्थाओं को दिया जाता है। जिसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट सेंट्रल बोर्ड फॉर डायरेक्ट टैक्सेस की निगरानी में रखा जाता है।

पैन कार्ड सभी लोगों के लिए इस लिए जरूरी होता हैं क्यों की आम आदमी से लेकर बड़े बड़े बिजनेस मैन लोग आपनी आमदनी से इनकम टैक्स के भुगतान देने के लिए में बहुत जरुरत होती हैं। क्यों की किसी भी व्यक्ति या कंपनी की कर-संबंधी सभी जानकारी उसके इसी पैन नंबर पर दर्ज होती है। इससे दुनिया के किसी भी कोने में, उस विशेष व्यक्ति या कंपनी की सभी सूचना को बाँटा जा सकता है। एक बार बनाया गया पैन कार्ड, पूरी ज़िंदगी के लिए मान्य होता है।

कर यानी टैक्स देने वालों के आधार पर, आयकर विभाग द्वारा 4 अलग-अलग तरह के पैन कार्ड जारी किये जाते है

  1. भारतीय नागरिकों के लिए पैन कार्ड
  2. भारतीय कंपनियों के लिए पैन कार्ड
  3. विदेशी नागरिकों के लिए पैन कार्ड
  4. विदेशी कंपनियों के लिए पैन कार्ड

पैन कार्ड के लिए आवेदन

भारत सरकार ने उन सभी लोगों के लिए पैन कार्ड जरूरी कर दिया है, जो कंपनी, फर्म या फिर अपना खुद का बिजनेस और पार्टनरशिप, ट्रस्ट, लिमिटेड कंपनी चलाना चाहते हैं तो उसके लिए भी पैन कार्ड की जरुर पड़ेगी, साथ ही भारत के आम लोगों को भी पैन कार्ड बनवाना आवश्यक है। आवेदन करने के लिए कौन से दस्तावेज और करें अवेदन।

एनएसडीएल (NSDL)या यूटीआइएसएल (UTIISL) की वेबसाइट से पैन कार्ड फॉर्म डाउनलोड करें या यूटीआइएसएल एजेंट से ये फॉर्म प्राप्त करें फॉर्म भरें और ज़रूरी दस्तावेज लगाएं आपको अपने पहचान पत्र, निवास स्थान का प्रमाण पत्र, एक पासपोर्ट साइज फोटो और अपने सिग्नेचर चहिए होगा।

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए NSDL और UTIITSL की वेबसाइट पर जाइए।

वेबसाइट पर ‘न्यू पैन’ के विकल्प पर क्लिक करें, वहां पैन फॉर्म 49A होगा जिसे भारतीय नागरिक, एनआरई/एनआरआई और ओसीआई (भारतीय मूल के नागरिक) भर सकते हैं।

इसके बाद आपको सिलेक्ट करना होगा न्यू पैनकार्ड, इसके बाद कैटेगरी में अपको सेल्फ यानी खुद के लिए भर रहें तो सेल्फ पर क्लिक करना है, इसके बाद फॉर्म की फील करने की प्रक्रिया शुरु हो जायेगी अपनी व्यक्ति गत सारी जानकारी भरिए, और ध्यान से भरिएगा।

सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद फॉर्म को जमा करेंगे तो अपको डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से ऑनलाइन प्रोसेसिंग फीस का भुगतान करना होगा।

फॉर्म और फीस जमा करने के बाद आखिरी पेज में अपको 15 डिजिट का नंबर मिलेगा।

इसके बाद एनएसडीएल द्वारा वेरिफिकेशन करेगा और फिर फॉर्म में भरे पते पर 15 दिन के अंदर पैन कार्ड पहुँच जाएगा।

कंपनी या फार्म के लिए आवेदन

अगर आप अपनें बिज़नेस के लिए पैन कार्ड का अवेदन कर रहे हैं तो अपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा जैसे आप जब अवेदन करेंगे तो न्यू पैन कार्ड तो रहेगा ही इसके अलावा आपको अपनी कैटेगरी चुननी होगी।

इसके बाद अपनी कंपनी का नाम एक ही बार में दर्ज करना होगा यानी फर्स्ट नेम में आपकी कंपनी का पुरा नाम दर्ज होगा, फिर आप डेट ऑफ बर्थ में जिस दिन आप की कंपनी का रजिट्रेशन हुआ था वो भरना होगा इसके बाद की सारी जानकारियां अपके कंपनी की होंगी आप ध्यान पूर्वक भरियेगा।

कंपनी के लिए जरूरी दस्तावेज

  • इनकारपोरेशन का सर्टिफिकेट
  • बिजनेस रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट
  • आर्टिकल ऑफ इनकारपोरेशन की कॉपी
  • एडरेस प्रुफ की कॉपी।

किस किस जगह काम आता है पैन कार्ड

आयकर रिटर्न फाइल करने के लिए तक पैन अनिवार्य रहा है।जो 5 लाख या उससे अधिक की अचल संपत्ति यानी की रियल एस्टेट को खरीदने के दौरान भी पैन को लगाना करना जरूरी है। आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर ऐसे सभी नियमों को साफ-साफ लिखा और बताया गया है।

इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग के दौरान आपका आधार पैन के साथ लिंक होना जरुरी होता है। ऐसा न होने पर आपका आईटीआर प्रोसेस नहीं होगा। आयकर विभाग के मुताबिक बैंक ड्राफ्ट की नकद खरीद, पे ऑर्डर या एक दिन में 50,000 रुपए या उससे ऊपर के बैंकर्स चेक के लिए भी पैन कार्ड की आवश्यकता होती है। इसके अलावा लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम में भी 50,000 रुपये से अधिक के पेमेंट पर भी आपको अपने पैन नंबर की जानकारी देनी ही होगी।

पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट में भी 50,000 रुपए से अधिक की नकदी जमा करने पर पैन नंबर देना अनिवार्य है। क्रेडिट एवं डेबिट कार्ड के आवेदन के लिए भी पैन कार्ड दिया जाता है।इससे आपके फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन की जानकारी हासिल की जाती है। होटल और रेस्त्रां में 25,000 रुपए से ऊपर के बिल के लिए भी पैन कार्ड देना अनिवार्य है।

जब आप 5 लाख रुपये से अधिक की ज्वेलरी खरीदते हैं तो आप दुकान में खरीदारी के समय आपको पैन कार्ड की डिटेल देनी होगी।

यह भी पढ़े – EMI kya hai

पैन कार्ड कैसा दिखता है?

पैन कार्ड एक नीले रंग का छोटा कार्ड होता है, जिसपर एक 10डिजिट का अल्पानुमेरिक नंबर लिखा होता है और जो नागरिकों के लिए होता है, उसमें उनकी सारी जानकारी लिखी होती है फोटो के साथ।

अगर आप आयकर भुगतान यानी टैक्स पेयर के दायरे में आते हैं तो आपके लिए तो पैन कार्ड बनवाना काफी जरूरी है।

निष्कर्ष

आप को समज गया होगा की आप के लिए Pan Card क्यों जरुरी है? अगर आप का Pan Card नही है तो आप अपना Pan Card बनवा सकते हो


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Yogesh Sharma

नमस्कार दोस्तों, में योगेश शर्मा, Hindi Top का Digital Marketing Author & Co-Founder हु. अगर में अपनी बात करता हु तो मेरे Digital Marketing में 2 साल का experience है. मेरे को Digital Marketing की New Update दखने में और दुसरो को सिखाने में बड़ा मजा आता है. आप Hindi Top के साथ बने रहो आप रोज नई-नई चीजो को सिख्नते रहोगे!

View all posts by Yogesh Sharma →

Leave a Reply