Festival

न्यू ईयर क्यों मानते हैं 2022 | New Year kyu Manate hai

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

न्यू ईयर की पूर्व संध्या को सभी एक महत्वपूर्ण दिन मानते हैं और इसका मुख्य कारण ‘नया’ शब्द के साथ टैग किया जाना है। हम जीवन में हमेशा नई चीजों को विशेष ध्यान और महत्व देते हैं। यही फार्मूला यहां भी लागू होता है। नए साल में होने वाली नई चीजों का हम पर बहुत प्रभाव पड़ता है। लेकिन कुछ लोगों के मन में यह सवाल होता है कि ‘हम नया साल क्यों मनाते हैं । तो आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि न्यू ईयर क्यों मनाते हैं

न्यू ईयर क्यों मनाते हैं

1 जनवरी को सेलिब्रेट किये जाने वाला न्यू ईयर ग्रेगोरियन कैलेंडर पर आधारित है। इसकी शुरुआत रोमन कैलेंडर से हुई है। आज से करीब 4,000 वर्ष पहले न्यू ईयर बेबीलोन नाम के स्थान पर मनाया गया था।

पुराकालीन रोमन कैलेंडर के हिसाब से न्यू ईयर 1 मार्च से प्रारंभ होता है, किन्तु रोमन के प्रसिद्ध सम्राट जूलियस सीजर ने 46 वर्ष ईसा पूर्व में इस कैलेंडर में बदलाव किया था। उन्होंने जुलाई का महीना और इसके बाद अपने भतीजे के नाम पर अगस्त का महीना जोड़ दिया था। तब से लेकर आज तक दुनियाभर में ईयर 1 जनवरी को न्यू ईयर मनाया जाता है

दुनियाभर में न्यू ईयर की परंपराएं और समारोह

भारत में न्यू ईयर विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग तारीखों पर मनाया जाता है। आमतौर पर ये तारीखें मार्च और अप्रैल माह में होती हैं। सिख धर्म के लोग इसे नानकशाही कैलेंडर के हिसाब से मार्च के माह में होली के दूसरे दिन मनाते हैं। हालांकि, पंजाब के लोग न्यू ईयर को बैशाखी के रूप में 13 अप्रैल को मनाते हैं। जैन धर्म को मानने वाले लोग न्यू ईयर को दिवाली के अगले दिन मनाते हैं। यह भगवान महावीर स्वामी की अनात्मन प्राप्ति के अगले दिन से प्रारंभ होता है।

भारतीय नव वर्ष कब मनाया जाता है

हिन्दू धर्म के लोग न्यू ईयर को चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा के अनुसार मनाते हैं। हिन्दू धार्मिक मान्यता के हिसाब से भगवान ब्रह्मा ने इसी दिन सृष्टि की रचना शुरू की थी इसलिए इस दिन से न्यू ईयर का आरंभ भी होता है। इस्लामिक कैलेंडर के हिसाब से मोहर्रम माह की पहली तिथि को न्यू ईयर हिजरी शुरू होता है।

दुनिया भर में न्यू ईयर की परंपराएं और समारोह

कई देशों में न्यू ईयर का जश्न 31 दिसंबर की शाम को शुरू होता है। न्यू ईयर की पूर्व संध्या और 1 जनवरी के शुरुआती घंटों तक बना रहता है। मौज-मस्ती करने वाले अपने भोजन और नाश्ते का लुफ्त उठाते हैं जो आने वाले वर्ष के लिए सौभाग्य प्रदान करने के लिए माना जाता है।

स्पेन और कई अन्य स्पैनिश भाषी देशों में लोग आधी रात से ठीक पहले एक दर्जन अंगूरों को काटते हैं जोकि आने वाले दिनों के लिए उनकी आशाओं का प्रतीक होता है।

दुनिया के कई हिस्सों में पारंपरिक तौर पर नए साल के व्यंजनों में फलियां होती हैं जिन्हें सिक्कों के समान माना जाता है और भविष्य की वित्तीय सफलता की शुरुआत होती है। उदाहरणों के लिए आपको बता दें तो इटली में मसूर और दक्षिणी संयुक्त राज्य में काली आंखों वाले मटर शामिल हैं।

क्यूबा, ​​​​ऑस्ट्रिया, हंगरी, पुर्तगाल और अन्य देशों में लोग न्यू ईयर के दिन सूअर को अच्छा मानते हैं। क्योंकि सूअर कुछ संस्कृतियों में प्रगति और समृद्धि का प्रतिनिधित्व करते हैं सूअर का मांस न्यू ईयर की पूर्व संध्या पर दिखाई देता है।

नीदरलैंड, मैक्सिको, ग्रीस के लोग न्यू ईयर में अंगूठी के आकार के केक और पेस्ट्री से जश्न मनाते हैं। अंगूठी के आकार के केक और पेस्ट्री इस बात का संकेत है कि वर्ष का पूरा चक्र आ गया है।

वहीं, स्वीडन और नॉर्वे में नए साल की पूर्व संध्या पर एक बादाम के साथ चावल का हलवा परोसा जाता है। ऐसा माना जाता है कि जो कोई भी अखरोट पाता है वह आने वाले दिनों में अच्छे भाग्य की उम्मीद कर सकता है।

आतिशबाजी देखना और गाने गाना दुनिया भर में आम रीति-रिवाज में शामिल हैं जिससे लोग न्यू ईयर का स्वागत करते हैं। जिसमें कई अंग्रेजी बोलने वाले देशों में हमेशा लोकप्रिय “औल्ड लैंग सिन” शामिल है।

ऐसा कहा जाता है न्यू ईयर के लिए संकल्प करने की प्रथा सबसे पहले प्राचीन बेबीलोनियों में देखी गई थी जिन्होंने देवताओं के पक्ष को अर्जित करने और दाहिने पैर से वर्ष की शुरुआत करने के लिए वादे किए थे। ( वे कथित तौर पर कर्ज चुकाने और उधार लिए गए कृषि उपकरण वापस करने की कसम खाएंगे। )

संयुक्त राज्य अमेरिका में न्यूयॉर्क शहर के टाइम्स स्क्वायर में आधी रात के समय एक विशाल गेंद को गिराना न्यू ईयर की सबसे प्रतिष्ठित परंपरा है। दुनिया भर में लाखों लोग इस आयोजन को देखते हैं जो सन् 1907 से लगभग हर साल होता है। समय के साथ वह गेंद 700 पाउंड के लोहे और लकड़ी के गोले से 12 फीट व्यास और लगभग 12,000 पाउंड में चमकीले पैटर्न वाले गोले में परिवर्तित हो गई है। अमेरिका भर के विभिन्न कस्बों और शहरों ने टाइम्स स्क्वायर अनुष्ठान के अपने संस्करण विकसित किए हैं।

न्यू ईयर की पूर्व संध्या पर मध्यरात्रि में अचार (डिल्सबर्ग, पेंसिल्वेनिया) से लेकर पोसम (तल्लापोसा, जॉर्जिया) तक की वस्तुओं की सार्वजनिक बूंदों का आयोजन करते हैं।

न्यू ईयर के बारे में विभिन्न तथ्य

  • एस्टोनियाई में न्यू ईयर की पूर्व संध्या पर 7, 9 या 12 भोजन खाने की प्रथा है।
  • डेनमार्क में लोग दूसरे लोगों के दरवाजे पर बर्तन फेंकते हैं जिसके बारे में माना जाता है कि इससे उनके पास नए दोस्त आते हैं।
  • एक स्पेनिश न्यू ईयर परंपरा में सौभाग्य लाने के लिए लोग 31 दिसंबर की मध्यरात्रि में 12 अंगूर खाते हैं।
  • सिंट सिल्वेस्टर वूरानवोंड बेल्जियम में न्यू ईयर की पूर्व संध्या का विशेष नाम है।
  • ऑस्ट्रेलिया के सिडनी हार्बर तटरेखा पर न्यू ईयर की आतिशबाजी देखने के लिए 10 लाख से अधिक लोगों की भीड़ उमड़ती है। तटरेखा लगभग 40 मील तक फैली हुई है।
  • न्यू ईयर पार्टी में टाइम्स स्क्वायर में दो हजार पाउंड कंफ़ेद्दी गिराए जाते हैं।
  • न्यू ईयर पर अमेरिकी लगभग 360 मिलियन ग्लास स्पार्कलिंग वाइन पीते हैं।

निष्कर्ष

हमारें पोर्टल Hindi Top के जरिये आप इस तरह की और भी महत्वपूर्ण जानकरी ले सकते है | यदि आपको यह पोस्ट “ न्यू ईयर क्यों मनाते हैं (new year kyu manate hain)” पसंद आयी हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ साझा जरूर करें। हमारे ब्लॉग Hindi Top को फॉलो कर लें ताकि हमारे आर्टिकल सब से पहले आप तक जा सके।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Priya Kumari

I'm a content writer with a passion for writing fresh and engaging contents that can influence others. Specialized in writing SEO friendly and plagiarism free articles. I am an experienced and professional content writer, well trained in various tasks including article writing, web content, blog writing.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button