महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय | MS Dhoni Biography in Hindi

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हेल्लो दोस्तों, आप ने महेंद्र सिंह धोनी का नाम तो सुना ही होगा और आप उनके बारे मे काफी जानते होगे आज हम महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय ( MS Dhoni Biography in Hindi ) के बारे मे बताने वाले है

महेंद्र सिंह धोनी कि वो अनसुनी बातें जानिए जो शायद अपने न सुनी हों, जानें रिटायरमेंट के बाद कैसा जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी, जिन्हें कैप्टन कूल के नाम से भी जाना जाता है। इन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम को एक अलग पहचान दिलवाई है। इन्होंने सिर्फ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से 15 अगस्त 2020 को ही सन्यास ले लिया था। इसके अलावा उन्होंने ने टेस्ट क्रिकेट से तो 2014 में ही सन्यास ले लिया था। फिलहाल वो सिर्फ इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल 2021 में देखा गया है, हालाकि कोविड 19 की वजह से मैच को बीच में रोकना जरूर पड़ा लेकिन अक्टूबर से नवंबर में आईपीएल यूएई में खेलने की घोषणा हो चुकी खैरे हम आज आपको महेंद्र सिंह धोनी यानी माही के बारे में वो अनसुनी बातें बताते हैं जो शायद अपने न सुनी हों।

धोनी कहां के रहने वाले हैं ?

महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची, बिहार में हुआ था जो अब झारखंड की राजधानी है। माही के पिता नाम पान सिंह और उनकी माता का नाम देवकी देवी है। बात करें अगर उनके पैतृक गांव की तो वह अल्मोड़ा जिला उत्तराखंड के रहने वाले हैं। माही के पिता उनके उत्तराखंड से रांची चले गए और मेकॉन में जूनियर प्रबंधन पद पर काम करते थे। धोनी की एक बहन है जिनका नाम जयंती हैं।

वहीं धोनी के एक बड़े भाई भी हैं जिनका धोनी पर बनी फिल्म द अनलोड स्टोरी धोनी में जिक्र ही नहीं किया लेकिन सच्चाई तो यही है की उनका एक बड़ा भाई भी है जिसका नाम है नरेन्द्र सिंह धोनी, जो कि पेशे से एक राज नेता हैं।

धोनी कहां से पढ़े हैं

धोनी ने अपनी स्कोली शिक्षा रांची से ही की थी, उन्हे शुरुवात से ही स्पोर्ट्स में रुचि थी और उन्हें फुटबॉल खेलना पसन्द हैं, लेकिन एक बार उनके स्पोर्ट्स टीचर ने उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया और वो क्रिकेट की फिल्ड में आ गए थे।

बात करें अगर उनके ग्रेजुएशन की तो वो क्रिकेट में इतने व्यस्त हुए कि वो अपनी पढाई पूरी नहीं कर पाए।

लेकिन क्या आप ये जानते है कि उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन पूरी करने के लिए उन्होने वर्ष 2008 में रांची के सेंट जेवियर्स कॉलेज में वोकेशनल स्टडीज़ के तहत ऑफिस एडमिनिस्ट्रेशन एंड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस कोर्स में बैचलर की डिग्री पाने के लिए पाठ्यक्रम 2008-2011 में एडमिशन भी ले लिया था, लेकिन क्रिकेट से समय ही नहीं निकाल पाए और एक भी परीक्षा वो पास नहीं कर पाए।

धोनी के कैरियर की शुरुवात कहां से हुई

महेंद्र सिंह धोनी पर बनी फिल्म में हमने ये सब देख ही रखा है लेकीन हम आपको धोनी से जुडी उन बातों को बताएंगे जो अपने फिल्म में नहीं देखी है। MS Dhoni Biography in Hindi

इस पारी से धोनी के क्रिकेट दुनियां की शुरुवात

जब महेन्द्र सिंह धोनी पाकिस्तान के खिलाफ 2005 की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में उतरे तो उन पर काफी दबाव था। साल 2004 में बांग्लादेश सीरीज में वो नाकाम हो चुके थे। हालांकि 123 गेंद पर 148 रनों की पारी ने उनके आलोचकों को शांत कर दिया था। यह धोनी के रेकॉर्ड तोड़ करियर की शुरुआत थी।

धोनी की कप्तानी का सफर

माही के कैरियर में बहुत से उतार चढ़ाव आए लेकीन साल 2007 के टी 20 वर्ल्ड कप में जब सचिन तेंडुलकर राहुल द्रविड़ और सौरभ गांगुली जैसे खिलाड़ियों ने खुद को इससे अलग रखने का फैसला किया तो धोनी को टीम की कमान सौंप दी गई थी और इसके बाद उनकी कप्तानी में एक युवा टीम ने पहला टी 20 वर्ल्ड कप जीत लिया जिससे वो रातों रात स्टार बन गए और एक अच्छे और मंझे खिलाड़ी के रूप में उभरते नजर आए।

धोनी ने टेस्ट मैच में किया कमाल

माही टी 20 कप जितवाने के बाद भारतीय टीम को टेस्ट रैंकिंग में सर्वश्रेष्ठ बन गई। घरेलू सीरीज में उन्होने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 213 रन की पारी खेली और भारत ने ऑस्ट्रेलिया को सीरीज में 4-0 से मात दी, सचिन तेंडुलकर ने उनकी कप्तानी में खेले एक टेस्ट मैच के बाद कहा था कि ड्रेसिंग रूम का माहौल इससे बेहतर कभी नहीं रहा।

धोनी ने आईपीएल में भी किया धमाल

आईपीएल में भी धोनी एक दम बढ़िया प्रदर्शन किया, उनकी टीम CSK अब तक हर सीजन के अंतिम चार में पहुंच चुकी है, और उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स 3 बार खिताब जीत चुकी है।

अगर आप यह भी जानना चाहते हो तो चेन्नई सुपर किंग्स का मालिक कौन है तो इसके उपर हम ने पहले से अक आर्टिकल लिखा हुआ है आप उसको जा कर रीड कर सकते हो

धोनी ने जितवाई वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रोफी

धोनी की कप्तानी में भारत ने साल 2011 में आईसीसी वर्ल्ड कप जीता। 28 साल बाद भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप जीता। विनिंग शॉट भी उनके ही बल्ले से निकला। इसके बाद उन्होंने साल 2013 में चैंपियंस ट्रोफी पर भी कब्जा किया। वह पहले कप्तान बने जिन्होंने तीनों आईसीसी ट्रोफी जीतीं। उन्हे कूल कफ्तान भी इस लिए बुलाया जाता है क्योंकि उन्होने हर बार फिल्ड पर खेलते हुए संयम में रहे और अपनी टीम को साथ लेकर चलें हैं।

रिटायरमेंट के बाद महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय

15 अगस्त 2020 ने धोनी रिटायरमेंट ले लिया और रांची में अपने फार्म हाउस में ही अपना जीवन व्यतीत करते नजर आते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी को किसानी का भी बहुत शौक है, वो अपनी पत्नी और बेटी जीवा के साथ उसी फार्म हाउस में रहते हैं और समय निकल कर खेती भी करते हैं वो अक्सर खेती करते हुए या फिर अपनी बेटी जीवा के साथ लाइफ को एंजॉय करते हुए अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर डालते नजर आते हैं। इसके अलावा धोनी एडवरटाइजमेंट में भी काम करते हैं।

वो अपने फुटबॉल के फैशन को नहीं भूले हैं अपने आप को फिट रखने के लिए वो जिम एक्सरसाइज तो करते ही हैं साथ ही समय निकल कर कभी कभी फुटबॉल भी खेलने जाते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी को सादगी भरा जीवन पसंद हैं इसलिए वो रांची में ही रहना पसंद करते हैं।

इसके अलावा वो अपने फार्म में उगने वाले सब्जियों को बाजार में भी बेचते हैं, उनके पास गौशाला भी है, इससे भी वो बाजार में दूध सप्लाई करते हैं।

आप को क्या पता लगा

आप हम को इस अब यह बता सकते है की आप को हमारे यह आर्टिकल महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय ( MS Dhoni Biography in Hindi ) से एसा क्या पता लगा जिसको आप नही जानते थे तो हम को कमेंट कर के जरुर बताना


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply