Ishan kishan Biography in Hindi | ईशान किशन का जीवन परिचय

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दो साल भूखे पेट सो कर आज ये लड़का हैं, इतना बड़ा भारतीय क्रिकेट जो लगभग हर भारतीय के दिल में और पुरी दुनियां इसकी फैन हैं। इस खेल को सर्वश्रेष्ठ बनाते हैं इस खेल के खिलाड़ी जो अपने बेहतरीन प्रदर्शन के साथ इस खेल को और अच्छा बनाते हैं। इसी खेल के भारतीय युवा खिलाड़ी जो आज कल सुर्खियों में हैं और हों भी क्यों न क्योंकि की ये ऐसे दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने जन्म दिन के दिन ही इंटरनेशनल मैच में डेब्यू किया था, जी हां हम बात कर रहे हैं, भारतीय क्रिकेटर ईशान किशन (Ishaan Kishan) की इनका जलवा आईपीएल में भी बरकार हैं। ये आईपीएल में मुंबई इन्डियन के लिए खेलते हैं, तो आज के आर्टिकल में आप जानेंगे ईशान किशन का जीवन परिचय ( Ishan kishan Biography in Hindi ) के क्रिकेट कैरियर की शुरूवात कैसे हुई और इनसे जुड़ी कुछ ख़ास बातें।

ईशान किशन का जन्म, पढ़ाई और परिवार

ईशान किशन का जन्म 18 जुलाई 1998 में बिहार की राजधानी पटना में हुआ, इनके पिता का नाम प्रणव पांडे और माता का नाम सुचित्रा पांडे। इनके पिता पेशे से एक बिल्डर हैं। ईशान के एक भाई भी हैं जिनका नाम राज किशन और वो भी क्रिकेट खेलते हैं। इनको क्रिकेट खेलने के लिए इनके भाई ने बहुत प्रेरित किया था।

ईशान किशन जब निकाल दिए गए थे स्कूल से बाहर

अपको पता हैं, ईशान का मन पढ़ाई में नहीं लगता था, और वो कोई न कोई बहाना बना कर स्कूल ही नहीं जाया करते थे। ईशान बिहार के डीपीएस स्कूल में पढ़ा करते थे, इनकी कम अटेंडेंस (attendance) की वजह से स्कूल से बाहर निकाल दिया गया था और जब उन्हे स्कूल से निकाला जा रहा था, तो उन्होनें बिना कुछ कहे स्कूल छोड़ दिया और क्रिकेट में कैरियर बनने की ठान ली।

ईशान किशन के क्रिकेट कैरियर की शुरुवात

बिहार के रहने वाले ईशान ने बिहार में ही अपने क्रिकेट खेलने की शुरूवात कि, इनके बचपन के कोच रहे उत्तम मजूमदार ने इन्डियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी पहली मुलाकात किशन से साल 2005 में हुई थी, वो कोने बड़े भाई के साथ उसने मिलने आए थे, और किशन का दाखिल करवाने, जब उन्होंने ईशान को खेलते देखा तो बहुत प्राभावित उन्हे और फिर क्या उन्होंने ईशान को सीखना शुरू कर दिया।

हालांकि जब ईशान 12 साल थे, तब उस समय बिहार क्रिकेट एसोसिएशन से बीसीसीआई का कुछ विवाद चल रहा था, तब ईशान के कोच रहे संतोष कुमार ने उन्हें झारखंड से खेलने की सलाह दी और फिर इनके परिवार को एक बड़ा फैसला लेना पड़ा, ईशान उस समय महज 12 साल के थे और उनके घर वालों को उनकी चिंता थी, लेकिन उनके कोच ने ईशान के पिता से एक ही बात कही की कुछ भी करना इसका क्रिकेट मत छुड़वाना और अगर इंटरनेशनल लेवल पर लेकर जाना है तो आपको ऐसा करना ही पड़ेगा। फिर क्या बेटे की जिद और उसको क्रिकटर बनाने के लिए उनके पिता ने उन्हें झारखंड की राजधानी रांची भेज दिया।

ईशान किशन खेल में इतना रम गए दो साल सोए भूखे पेट

ईशान रांची में क्रिकेट टूर्नामेंट में सेल की टीम के लिए चुन लिए गए, सेल ने उन्हें एक कमरे का क्वार्टर भी दिया था। जिसमें ईशान के साथ चार सीनियर्स क्रिकेटर भी रहते थे। ईशान सिर्फ 12 साल के थे और खाना बनना इनको आता नहीं था, इसलिए ईशान के सीनियर्स ने उन्हें साफ सफाई के साथ बर्तन धोने के साथ पानी भरने का भी काम दे रखा था।

एक बार जब उनके पिता अपने बेटे से रांची मिलने पहुंचे तो उन्हें पता चला ईशान रात को भूखे पेट सोता हैं। उनका कहना था कि उनके सीनियर्स रात में क्रिकेट खेलने चले जाया करते थे, जिस कारण खाना न मिल पाने के कारण वो रात को भूखे पेट सो जाया करते थे।

अपको पता है इसके बारे में उन्होनें अपने घर पर कभी नहीं बताया जब भी उनके घर वाले फोन कर पूछते थे तो वो झूठ बोल देते थे कि हां उन्होंने खाया है, तकरीबन दो साल तक ही ऐसा चलता रहा वो रात में कभी चिप्स, तो कभी कुरकुरे और कोल्डड्रिक पी कर सो जाते थे। जैसे ही उनके पिता को पता चला तो उन्होनें राँची में एक फ्लैट किराए पर लेने का फैसला किया और ईशान की मां और खुद ईशान उस फ्लैट में रह करते थे।

यह भी पढ़े – Rishabh Pant Biography in Hindi 

ईशान जब 15 साल के थे, तभी उनका चयन झारखंड के रणजी ट्रॉफी के लिए हो गया था, ईशान असम के खिलाफ गुवाहाटी में ओपनिंग करते हुए 60 रन बनाए थे और फिर इसी के बाद इनका चयन भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम में हो गया।

ईशान किशन जब आने लगे सुर्खियों में।

ईशान किशन पहली बार सुर्खियों में जा इन्हे अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए टीम इण्डिया कप्तान (caption) बनाया गया। बांग्लादेश की राजधानी ढाका में इस वर्ल्ड कप में इन्होंने अपनी कप्तानी की बदौलत टीम इण्डिया को फाइनल तक पहुंचा दिया था। इसी के बाद इन्होंने रणजी ट्रॉफी में झारखंड की ओर से 799 रन बनाएं और वोही दिल्ली की टीम ने सिर्फ 273 रन बनाएं।

ईशान किशन आईपीएल में किया आगाज

इसके बाद साल 2017 में ईशान को आईपीएल में भी खेलने का मौका मिला इन्होंने पहली बार गुजरात लायंस की तरफ से खेलना शुरू किया था। शुरुवात में इन्होंने छोटे छोटे स्कोर बनाएं लेकिन इनके खेलने के तरीकों को खुब सरहाना मिली

मुंबई इंडियंस से जुडे और पलट गई किस्मत

साल 2018 के बाद ईशान को मुंबई इंडियन्स ने 6.2 करोड़ रूपया में खरीद लिया, पर ज्यादा मौके नहीं दिए साथ ही सक 2019 में भी ये मुंबई इंडियन्स की टीम का हिस्सा बने साथ ही 2020 के आईपीएल में भी, आईपीएल में ईशान ने अभी तक केवल 50 मैच खेलें है, और इनका स्ट्राइक रन रेट 1211 है।

आज ईशान भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज ने इसी साल यानी 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ़ घरेलू टी20 में इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रख चुके हैं,आज ईशान को उनके प्रदर्शन के वजह से टीम इण्डिया में भी शामिल किया गया और इंटरनेशनल स्तर पर ये अपनी काबिलियत साबित कर ही चुके हैं।

ईशान किशन पर्सनल लाइफ

ईशान किशन अपनी पर्सनल लाइफ को काफ़ी बेहतरीन और स्ट्लीलिश ढंग से जीते हैं। बात करें अगर इनकी लव लाइफ की तो ऐसी खबरें हैं कि ईशान, एक मॉडल अदिति हुंडिया (Aditi Hundia) को डेट कर रहे हैं, मिडिया रिपोट्स की माने तो अदिति को कई बार आईपीएल में ईशान की टीम मुंबई इंडियन्स को चीयर करते हुए देखा गया है, हालंकि दोनों में से ही किसी ने अभी तक कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं दिया हैं।

निष्कर्ष

आप को हमारा यह आर्टिकल ईशान किशन का जीवन परिचय ( Ishan kishan Biography in Hindi ) काफी पसद आया होगा तो इसको शेयर करना न भूले


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply