Tutorial

आईपीएस कैसे बनें ( IPS kaise Bane ) पूरी जानकारी हिंदी में

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हर साल लाखों लोग सिविल सर्विसेज की परीक्षा देते हैं लेकिन वे परीक्षा में सफल नहीं हो पाते। इसका सबसे बड़ा कारण है कि वे लोग परीक्षा के बारे में नहीं पढ़ते जैसे कि परीक्षा का पैटर्न, सिलेबस इत्यादि। अगर आप आईपीएस बनना चाहते हैं तो इस अर्टिकल को ध्यान से पढ़ें। छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान न देना आपको परीक्षा में असफल बना सकता है। तो आज हम इस आर्टिकल में बताने वाले वाले है आईपीएस कैसे बनें ( IPS kaise Bane ).

आईपीएस क्या होता है

भारतीय पुलिस सेवा (IPS) भारत सरकार की तीन अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। साल 1948 में आईपीएस का गठन हुआ था। आईपीएस के लिए कैडर कंट्रोलिंग अथॉरिटी गृह मंत्रालय है।

आईपीएस परीक्षा भारतीय पुलिस सेवा परीक्षा हर साल संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित कराई जाती है।

आईपीएस अफसर बनने के लिए किसी भी कैंडिडेट को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा क्वालीफाइ करनी होती है। सविल सेवा परीक्षा आईएएस, आईआरएस और आईएफएस जैसी अन्य सेवाओं के लिए भी योग्यता परीक्षा है।

आमतौर पर तारीखें और अन्य विवरण इसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर फरवरी में अधिसूचित किए जाते हैं। IPS के लिए हर साल लगभग 8 लाख उम्मीदवार आवेदन करते हैं, जिनमें से सिर्फ 150 का ही चयन होता है।

आईपीएस अधिकारी की जिम्मेदारियाँ

  • IPS अफ़सर पब्लिक की सुरक्षा करके अपनी जिम्मेदारियों का पालन करता है।
  • IPS अफ़सर राज्य और केंद्र के लिए भी कार्य करता है। उनका प्राथमिक कर्तव्य पब्लिक के बीच शांति बनाए रखना है।
  • उनकी मुख्य भूमिका भारतीय खुफिया एजेंसियों जैसे अनुसंधान और विश्लेषण विंग (रॉ), इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी), केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) आदि है।

आईपीएस बनने के लिए योग्यता

  • यूपीएससी सीएसई परीक्षा देने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए। सामान्य वर्ग के उम्मीदवार के लिए अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष है। ओबीसी वर्ग के लिए अधिकतम आयु सीमा 35 है। वहीं, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए अधिकतम आयु सीमा 37 वर्ष है।
  • सिविल सेवा परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक करना अनिवार्य है, स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के छात्र भी परीक्षा में बैठ सकते हैं |

IPS बनने के लिए शारीरिक योग्यता

चूंकि, एक आईपीएस अधिकारी को फिट और स्वस्थ होना जरूरी है, इसलिए उम्र और शैक्षिक श्रेष्ठता को पूरा करने के अलावा आईपीएस कैंडिडेट को शारीरिक मानकों को भी पूरा करना होता है।

  • पुरुष उम्मीदवारों की आयु 165 सेमी से कम नहीं होनी चाहिए, जबकि महिलाओं के लिए, कट-ऑफ की ऊंचाई 150 सेमी है (अनुसूचित जनजातियों और कुछ जातीय समूहों जैसे गोरखा, असमिया और कुमाऊंनी से संबंधित उम्मीदवारों के लिए 5 सेमी की छूट है)।
  • चश्में और लसिक सर्जरी सहित सुधारात्मक उपायों वाले उम्मीदवारों को भी यह परीक्षा देने की अनुमति दी गयी है। हालांकि, जिनकी अपवर्तक सर्जरी हुई है, उन्हें मंजूरी के लिए नेत्र रोग विशेषज्ञों के एक स्पिशलाइज्ड बोर्ड के पास भेजा जाता है।
  • पुरुषों के लिए छाती का माप कम से कम 84 सेमी और महिलाओं के लिए 79 सेमी आंका जाता है।

नंबर ऑफ अटेम्प्ट:

  • आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए सामान्य वर्ग उम्मीदवार 32 वर्ष तक अधिकतम 6 प्रयास कर सकते हैं।
  • आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए कोई सीमा निर्धारित नहीं है।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) में आने वाले उम्मीदवार आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए 35 वर्ष तक अधिकतम 9 प्रयास कर सकते हैं।
  • आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए शारीरिक रूप से विकलांग उम्मीदवार भी अधिक से अधिक 9 प्रयास कर सकते हैं।

आईपीएस (IPS) ऑफिसर बनने के लिए सिविल सर्विस परीक्षा क्वालीफाइ करनी होती है। यूपीएससी एग्जाम साल में एक बार आयोजित किया जाता है। यह एग्जाम तीन चरणों में होता है:-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • इंटरव्यू (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

  • आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपको सबसे पहले प्रीलिमिनरी एग्जाम क्वालीफाइ करना होता है।
  • प्रीलिमिनरी एग्जाम जून से अगस्त माह के बीच में हो जाता है।
  • इस चरण में सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के होते है। इसमें आपको हर प्रश्न के उत्तर के लिए 4 विकल्प दिये जाएंगे। इसमें 2 पेपर होते है जो कि 200-200 नंबर के होते हैं। इसलिए यह चरण कुल 400 अंकों का होता है। इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है।
  • इसके प्रश्न-पत्र हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों भाषा में होते है। इस चरण को क्वालीफाइ करने के बाद ही आप आईपीएस की मुख्य परीक्षा दे सकते हैं।

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

  • प्रीलिमिनरी के बाद दूसरे चरण में आता है मेन एग्जाम।
  • मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते है जो कि वर्णनात्मक होते हैं।
  • मुख्य परीक्षा में 7 पेपर मेरिट के होते है और 2 भाषा के होते है। इसमें 2 तरह के प्रश्न होते है निबंध पेपर और ऑप्शनल पेपर।
  • सारे विषयों की लिखित परीक्षा का कुल योग 1750 होता है।
  • मुख्य परीक्षा दोनों परीक्षा क्वालीफाइ करने के बाद ही उम्मीदवार को इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाता है।

आईपीएस इंटरव्यू

आईपीएस ऑफिसर बनने का लास्ट प्रोसेस है इंटरव्यू। इसमें संघ लोक सेवा आयोग के कीर्तिवान अफ़सरों द्वारा आमंत्रित उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया जाता है। यह इंटरव्यू कुल 275 अंक का होता है। यह करीब 30 से 45 मिनट तक चलता है। इसमें उम्मीदवार का आत्मविश्वास, खुद को प्रस्तुत करने की क्षमता, विचार, व्यक्तित्व, रवैया इत्यादि को देखा जाता है।

आईपीएस ट्रेनिंग

इंटरव्यू क्वालीफाइ करने के बाद सभी उम्मीदवारों को लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन में भेजा जाता है | आईपीएस अफसरों को इस अकादमी में 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है। इसके बाद उन्हें ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल पुलिस अकादमी में भेज दिया जाता है। वहां पर उन्हें स्‍पेशल लॉ, भारतीय दंड संहिता और क्रिमिनोलॉजी की ट्रेनिंग दी जाती है।

आईपीएस अधिकारी का वेतन

सन् 1948 में भारत को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता मिलने के बाद भारतीय शाही पुलिस को बदलने के लिए आईपीएस का गठन किया गया था। एक आईपीएस अधिकारी का वेतन रैंक और पदों के आधार पर INR 56,600 से INR 80,000 तक हो सकता है।

निष्कर्ष

हमारें पोर्टल Hindi Top के जरिये आप इस तरह की और भी महत्वपूर्ण जानकरी ले सकते है | यदि आपको यह पोस्ट “आईपीएस कैसे बनें ( IPS kaise Bane )” पसंद आयी हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ साझा जरूर करें तथा Hindi Top को फॉलो करना ना भूलें। और निचे आईपीएस में पूछे जाने वाले सवाल से जुड़े कुछ प्रश्न दिए है तो जिस से आप को काफी मदद मिल जायगी

10 वीं के बाद आईपीएस बन सकते है

नही 10 वीं के बाद आईपीएस नही बन सकते है

12 वीं के बाद आईपीएस बन सकते है

नही आप 12 वीं के बाद आईपीएस नही बन सकते है

आईपीएस बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए

IPS बनने के लिए किसी प्रकार का कोई खास सब्जेक्ट लेना जरुरी नहीं है, आप इसके लिए 11th में किसी भी स्ट्रीम (science, commerce, arts) से कर सकते हैं

आईपीएस बनने के लिए कितनी हाइट होनी चाहिए

आईपीएस बनने के लिए पुरुष की आयु 165 सेमी से कम नहीं होनी चाहिए, महिलाओं के लिए, कट-ऑफ की ऊंचाई 150 सेमी होनी चाइये

एमपीपीएससी का फुल फॉर्म

एमपीपीएससी का फुल फॉर्म Indian Police Service है


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Priya Kumari

I'm a content writer with a passion for writing fresh and engaging contents that can influence others. Specialized in writing SEO friendly and plagiarism free articles. I am an experienced and professional content writer, well trained in various tasks including article writing, web content, blog writing.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button