Business

डेयरी फार्म कैसे शुरू करें ( Indian Dairy Farm Business Plan in Hindi )

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नमस्ते आप सभी को, कैसे है आप सब ? आज आपको हम एक तेजस्ब व्यवसाय की जानकारी बताएंगे जो हमारे भारत में काफी प्रचलित है। अगर हाली में आपने कोई व्यवसाय करने का सोचा है लेकिन काफी कंफ्यूज हो रह रहे है तो आपको इस पोस्ट के जरिये इस व्यवसाय को जानने का मार्गदर्शन मिल सकता है। क्या आपको डेरी फार्म बिज़नेस के बारे में ज्ञात है, अगर नहीं तो इस पोस्ट में आपको इस बिज़नेस को करने के आइडियाज हम शेयर करेंगे। यह व्यवसाय कहने के लिए तो काफी आसान है , लेकिन करने में काफी कठिन क्यूंकि गाओ और अन्य छोटे प्रांतों में पालतू जानवरों की परवरिश की जाती है और उनके दूध को मार्केट में बड़े पैमाने पर बेचा जाता है। अगर आप इस कारोबार की शुरुवात करने से पहले आपके लिए कुछ महत्व जानकारिया समझ लेना काफी जरुरी है। इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे की इस बिज़नेस को शुरुवात करने के लिए आपको किन चीज़ों की जरुरत पड़ेगी , इस कारोबार का भारत में कितना व्यापार है और इसमें आप कितना मुनाफा कमा सकते है। तो चलिए जानते है डेयरी फार्म कैसे शुरू करें ( Indian Dairy Farm Business Plan in Hindi )

डेरी फार्म बिज़नेस में मुनाफा कितना है

इस व्यवसाय को करने से पहले हम आपको कुछ इस बिज़नेस की उत्पादन की स्थिति बताते है। साल 2015 – 2016 के एक आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक़ दूध उत्पादन में भारत का पहला स्थान है और विश्व में दूध का उत्पादन लगभग 18% भारत में होता है। साल 2017 के बाद से दूध के बढ़ोतरी में किसानो को खेती से ज्यादा इस बिज़नेस में काफी लाभ होता है। लगभग 23 % की बढ़ोतरी इस व्यवसाय में साल 2017 में दर्ज किया गया है। इससे हमें यह पता चलता है की इस व्यवसाय में काफी लाभ है जिसे म्हणत से अच्छे स्तर पर कमाया जा सकता है।

डेरी फार्म क्या होता है

डेरी फार्मिंग यानी पालतू जानवरो की खेती हम दूध निकालने के प्रक्रिया के लिए करते है। दूध के उत्पादन के उद्देश्य से गाय पालकर , भैंस पालकर , और बकरी पालकर इनका पालन पोर्शन किया जाता है। इन पालतू जानवरो को पालकर, इन्हे ख़ाक देकर मादा गाय, भैंस के जरिये दूध को निकाला जाता है और दूध को मार्केट में बेचा जाता है।

डेयरी फार्म कैसे शुरू करें ( Indian Dairy Farm Business Plan in Hindi )

इस बिज़नेस की शुरुवात करने के लिए आपको गाय, भैंस ,बकरी की नसल यानि ब्रीड का सही चुनाव करना होगा, इन जानवरो को पालने के लिए उपर्युक्त जगह , इनके खाने का इंतजाम और पालन पोषण की व्यवस्था सब चीज़ को रिसर्च करने के बाद ही इस फार्म की शुरवात करें।

  • पशु के नस्ल का सही चुनाव करें – गाय, भैंस और बकरी की नसल हमें बाजार में राष्ट्र और अंतराष्ट्रीय ब्रीड्स के जानवर मिल जाएंगी। गाय और भैंस की नसल के लिए हमे अच्छे ब्रीड्स का विश्लेषण करना आवश्यक है क्यूंकि इनसे ही हमें आगे भविष्य में लाभ होगा। हमारे देश के अच्छे भैंस के ब्रीड्स है -मुर्राह, नीली रवि, मेहसाणा, सुरति, जफ्फाराबड़ी, नागपुरी आदि है। उसी प्रकार गाय के अच्छे ब्रीड्स है गिर, साहीवाल, नंदी ,लाल सिंधी यह कुछ प्रचलित गाय उत्पादन के नसल है।
  • इन पशुओं को रखने की उपर्युक्त जगह – ज्यादातर इन जानवरों को गाओ में खुली जगहों पर चरने के लिए छोड़ा जाता है, जहां इनके साथ इन्हे चरवाने एक आदमी भी इनके पीछे चलता है ताकि यह जानवर कही और न चले जाए। अगर आप शहर से कुछ दूर इनके लिए जगह यानी फार्म ढूंढ रहे है तो आपको लगभग 85 वर्ग फ़ीट की खुली जगह अपने जानवरो को पालने के लिए सुनिक्षित करनी पड़ेगी। इसी फार्म में आपको इनके लिए चारा, पानी, ख़ाक के सेवन का सारा इंतज़ाम करना होगा।
  • पशुओं के लिए भोजन का इंतज़ाम – आपको इनके समय समय भोजन का इंतज़ाम करना होगा , इनके पालन पोषण में कोई भी कमी नहीं छोड़ना है, क्यूंकि जितना पोषण युक्त और उच्च गुणवत्ता चारा इन पशुओ को दिया जाएगा उतना इनमे दूध उत्पादन की क्षमता मिलेगी। इनका सबसे सक्रिय भोजन है हरी घास जो आपको इन्हे सेवन कराने में काफी कम खर्च होगा और इन्हे ग्रीन फ़ूड भी कहा जाता है। इसी प्रकार इन्हे पानी का सेवन भी समय समय पर मिलना चाहिए क्यूंकि 1 लीटर दूध के उत्पादन के लिए इन्हे लगभग ६ लीटर की पानी का सेवन लगेगा।
  • पशुओ की देखभाल – सबसे आवश्यक कार्य है की इन पशुओं को सारी बिमारी से दूर रखें और इनका टीकाकरण सही समय पर कराया जाए। जितना अच्छा स्वस्थ रहेगा उतना दूध उत्पादन अच्छा रहेगा।

डेरी फार्म बिज़नेस के लिए कहाँ से पशुओं को खरीदा जाए

भारत सरकार द्वारा इस बिज़नेस को बढ़ावा देने के लिए काफी सारि सुविधाएँ दी जा रही है। सरकार ने अपनी वेबसाइट पर गाय , भैंस और बकरी की ऑनलाइन पोर्टल द्वारा आप भेजिझक खरीद और बेच सकते है। इस पोर्टल का लिंक है https://epashuhaat.gov.in/ , इस लिंक पर जाकर आप कई सारे भैस, गाय और बकरी के ब्रीड और नस्ल को देख सकते है। इसके अलावा आपको भारत का प्रसिद्द पोर्टल इंडिया मार्ट में भी हमें यह ब्रीड खरीद सकते है

पशुओं की कीमत कितनी होती है

आपको गाय और भैंस लगभग 20 से 30 हज़ार तक एक गाय या भैंस मिल जाएगा। आप खरीदने से पहले प्रत्येक नसल की चयन जरूर करिये यानी उदाहरण के तौर पर अगर आप जेर्सी कैटल, होल्स्टीन मावशी, या साहीवाल की भैसे खरीद ते है तो आपको एक भैंस से 15 से 18 लीटर का उत्पादन मिलेगा।

डेरी फार्म खोलते वक़्त इन पॉइंट्स को आपको ध्यान रखना चाहिए

  • चुने गए फार्म या स्थान का चयन करें, आपको इनके लिए खुली जगह के साथ अपने फार्म में इनके लिए छत का भी सुविधा करना होगा , जहा भोजन करने के बाद यह पशु को आराम मिले, नहाने की सुविधा भी यही करनी होगी।
  • कर्मचारी भर्ती – भैस, गाय, बकरी को साफ़ करना, उन्हें भोजन और पानी देने के लिए आपको कुछ लोगो को नौकरी देनी होगी।
  • दूध निकालने की प्रक्रिया – इसके लिए भी आपको कुछ लोगो की जरुरत पड़ेगी जो भैंस और गाय का समय समय पर दूध निकाल सके।
  • व्यापारियों को दूध बेचना – दूध निकालने के बाद आपके दूध खरीदार आपसे दूध खरीदकर इसे मार्केट में डिस्ट्रीब्यूट करेंगे।
  • व्यापार करने के लिए आपको FSSAI लाइसेंस, ट्रेड लाइसेंस, वैट पंजीकरण करवानी होगी जो आपको अपने कंपनी के नाम पर करनी होगी।

निष्कर्ष

हमें आशा है आपको हमारी दी गई जानकारी डेयरी फार्म कैसे शुरू करें ( Indian Dairy Farm Business Plan in Hindi ) से लाभ हुआ हो। यह विषय डेरी फार्म बिज़नेस में आपका कोई सुज़हाव हो तो हमें जरूर हमारे आर्टिकल के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स पर दीजियेगा। हमारा आर्टिकल अगर आपको पसंद आया हो तो जरूर लाइक , शेयर और कमेंट करियेगा। आपका एक लाइक हमे और भी अच्छे आर्टिकल्स बटोरने में मदद करेगा। हमारे आर्टिकल से अंत तक जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद्।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

sona arumugam

मेरा नाम सोना अरुमुगम है , पेशे से इंजीनियर👩‍💻 दिल से लेखक हुँ।❤✍ मेरे ब्लॉग सिर्फ शब्द नहीं हैं वो मेरे विचार हैं📖💫 मैं सुरत शहर से ताल्लुक रखती हूं ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button