ईमेल क्या है और ईमेल कैसे काम करता है

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हेलो दोस्तों, कैसे है आप सब ? हम आशा करते है आप और आपके परिवारजन हमेशा स्वाथ्य और खैरियत रहे। हमारे हिंदी टॉप वेबसाइट पर आप सभी का स्वागत है। आज हमारे पोस्ट पर आज के आधुनिक काल में हो रहे है ट्रेंडिंग विषय “ईमेल क्या है” इसके बारे में बताने वाले है। ईमेल आईडी का उपयोग तो आपने किया ही होगा , इसके बिना आज हम अपने फ़ोन का इस्तेमाल भी नहीं कर सकते। आप किसी भी एप्प में प्रवेश करते है तो आपको ईमेल आईडी अवश्य पूछा जाता है , क्यूंकि ईमेल आईडी आज के डिजिटल दुनिया में एक व्यक्ति की आइडेंटिटी बन गई है।

क्या आप जानते है की ईमेल से पहले लोग कैसे मेसेजेस सेंड करते थे। पहले लोग टेलीग्राफ, पोस्ट ऑफिस के जरिये ही किसीको सन्देश पहुंचा सकते थे। इस प्रकिया में काफी समय बर्बाद होता था , लेकिन ऐसा नहीं की टेलीग्राफ और कूरियर आज के युग में इस्तेमाल नहीं होता। आज भी कई लोग इसका इस्तेमाल सैम्पल्स, वस्तु का आदान प्रदान भेजने के लिए उपयोग करते है। लेकिन सन्देश भेजना या कम्युनिकेशन करने में जहां पहले दो दिन लग जाते थे, आज वही मैसेज आप ईमेल के जरिये चंद सेकंड में भेजा जाता है।

ईमेल का फुल फॉर्म क्या है ?

ईमेल को हम इलेक्ट्रॉनिक मेल कहते है।

ईमेल क्या है ?

किसी मैसेज को जब एक सिस्टम से दूसरे सिस्टम में इंटरनेट के माध्यम से भेजा जाता है उसे इलेक्ट्रॉनिक मेल कहते है। यह मेल यानी मेसेजेस को एक यूज़र द्वारा एक से अधिक यूज़र को मेसेजेस भेजा जाता है। ईमेल के जरिये आप टेक्स्ट, इमेज, वीडियो, डॉक्यूमेंट भेज सकते है। ईमेल का उपयोग वर्तमान काल में बिज़नेस , ऑफिशल कामों के लिए किया जाता है, पुरे विश्व में ईमेल का आदान प्रदान हर सेकंड किया जाता है।

ईमेल का इतिहास क्या है ?

साल 1971 में पहला ईमेल सिस्टम बनाया गया था और यह सिस्टम ARPANET के विभिन्न होस्ट पर अपने यूज़र्स को ईमेल भेजने के लिए सफल हुआ। इस सिस्टम को बनाने का श्रेय रे टॉमिल्सोन को जाता है जिन्होंने पहले मेल को दूसरे यूज़र्स तक भेजा था , इसलिए इन्हे ईमेल का जनक कहते है। @ का इस्तेमाल करके इन्होने यूजरनाम को मेल सर्वर के साथ लिंक किया गया था।

साल 1978 में न्यूयॉर्क में ईमेल की नियमित रूप से शुरुवात एक भारतीय आविष्कारक शिव अन्नादुरै ने की थी। यह दुनिया का पहला इलेक्ट्रॉनिक अनुकरण ईमेल सिस्टम था जिसमे इनबॉक्स, आउटबॉक्स, फ़ोल्डर्स , रिसाइकल बिन जैसे फीचर्स को अन्नादुरै ने निर्माण किया था। ईमेल बनाने के लिए शिव अनंदुरई को साल 1982 में पहला कॉपीराइट प्राप्त हुआ था।

साल 1980 के दशक तक इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स बना जहा नेटवर्क का इस्तेमाल करके दुनिया के सभी लोगो ने कम्यूनिकेट करना शुरुवात की थी,

साल 1993 में इलेक्ट्रॉनिक मेल का नाम अब ईमेल शार्ट फॉर्म में उपयोग में आ चूका था। साल 1990 तक कई सारे ब्राउज़र का निर्माण हुआ जैसे अमेरिका ऑनलाइन (AOL ), इकोमेल, याहूमेल, हॉटमेल का बोलबाला हो चूका था। साल 1999 तक इंटरनेट यूज़र्स 400 मिलियन तक पार चुके थे।

ईमेल में उपयोग होने वाले प्रथम पार्ट्स कोनसे है ?

ईमेल में इस्तेमाल किये जाने वाले श्रेणी जो हम किसी यूजर को भेजते वक़्त करते है :

To : यह आपको ईमेल विंडो में सबसे पहले आता है। इसका मतलब है की आप जिस किसीको भी यह मेल भेज रहे है , उसका ईमेल आईडी आपको इसमें डालना होगा। तभी आपका मैसेज आप किसीको सेंड कर पाओगे ।

Cc : To के नीचे Cc आता है। इस श्रेणी का इस्तेमाल कार्बन कॉपी होता है। जिस भी यूजर को आप मेल सेंड करते है , उसके अलावा एक कॉपी आप उपर्युक्त व्यक्ति को भेज सकते है। उदाहरण के तौर पर अगर आप मार्केटिंग कर रहे है , और आप अपने कस्टमर को प्राइस डिटेल्स की जानकारी देते है , तो ऑफिस के रूल्स के हिसाब से आपको एक कॉपी अपने बॉस को CC करना अनिवार्य है।

BCC : इसका मतलब होता है ब्लाइंड कार्बन कॉपी। जब आप CC करते है तो यह एड्रेस सभीको दिखाई पड़ता है। लेकिन अगर कोई कॉपी आप BCC करते है , तो यह एड्रेस किसी भी रिसीवर को दिखाई नहीं पड़ती।

सब्जेक्ट : इस फील्ड में आपको जिस विषय पर आप यह मेल लिख रहे है वह लिखना होगा।

मैन बॉडी और अटैचमेंट : बॉडी यानी आपका मैसेज जो आपको अपने रिसीवर या क्लाइंट को लिखना है। इसमें आपको नीचे आपको अटैचमेंट मिलेगा जिसमे आप फोटोज , वीडियोस , डाक्यूमेंट्स दाल सकते है।

सेंड : आपके लिखे हुए मैसेज को भेजने का बटन होता है सेंड बटन।

फॉरवर्ड : जब आप किसी से मेल प्राप्त करते है या मेल भेजते है और आपको यह मेल फिरसे किसी दूसरे व्यक्ति को भेजना है तो फॉरवर्ड बटन का उपयोग करना पड़ता है।

रिप्लाई :जब आपको कोई मेल भेजता है , तो जब आप उस मेल को जवाब देते है तो आप नया मेल न बनाए। आप उसी मेल को रिप्लाई ऑप्शन में जाकर भेज सकते है। इससे आपके भेजे हुए मेल का रिकॉर्ड आपके अकाउंट में रहता है और बाद में भी इसे सर्च ऑप्शन में जाकर आसानी से ढूंढ सकते है।

डिलीट : अगर आपको किसी मेल की आगे आवश्यक नहीं है तो आप डिलीट ऑप्शन यानी आप इस मेल को परमानेंटली निकाल सकते है।

5 बेस्ट ईमेल प्रोवाइडर्स कोन से है ?

वर्तमान में काल में 5 ईमेल प्रोवाइडर्स जो काफी चर्चित और ट्रेंडिंग है :

  1. जीमेल -गूगल ब्राउज़र का प्रचलित ईमेल प्रोवाइडर है जीमेल। इसका उपयोग दुनियाभर में प्राइवेट जरूर बिज़नेस दोनों के लिए किया जा रहा है।
  2. आउटलुक – इस माइक्रोसॉफ्ट नियमित ईमेल सर्विस का उपयोग ज्यादातर बिज़नेस और ऑफिसियल उपयोग किया जाता है।
  3. याहू मेल – यह सबसे पुराण ईमेल सर्विस प्रोवाइडर है जिसका उपयोग आज भी हो रहा है।
  4. जोहो मैल – यह सर्विस प्रोवाइडर कुछ ही सालों में उभरकर आया है।
  5. रेडिफमेल – यह सर्विस प्रोवाइडर भी बिलकुल मुफ्त है बाकी चार ईमेल प्रोवाइडर्स के मुकाबले सामान है।

अपना ईमेल आईडी कैसे बनाए ?

यदि आप नया ईमेल आईडी क्रिएट करना चाहते है तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करिये, हम आपको ईमेल आईडी जीमेल पर कैसे बनाया जाए इसकी जानकारी देंगे, उसी प्रकार आप दूसरे साइट्स पर इसी तरह अपना ईमेल आईडी बना सकते है :

सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन या फिर कंप्यूटर या लैपटॉप पर web ब्राउज़र www.gmail .com टाइप करना होगा।

क्लिक करने पर आपको जीमेल के ईमेल अकाउंट खुलेगी जिस पर नीचे दिए गए क्रिएट अकाउंट पर आपको क्लिक करना होगा।

क्रिएट जीमेल अकाउंट पर क्लिक करते ही आपको अपने डिटेल्स जैसे की आपका यूजरनाम , नाम , पासवर्ड , आपका मोबाइल नंबर इत्यादि भरना होगा। आपका यूजरनाम जरा अलग और पासवर्ड में आपको शब्दों के साथ स्पेशल करक्टेर्स का इस्तेमाल करना होगा , उदाहरण के तौर पर अगर आपका नाम सोना अरुमुगम है तो :

आप अपना डिटेल्स इस प्रकार भर सकते है :

यूजरनाम – sona6391 और पासवर्ड – सोना#228 इस प्रकार रख सकते है। इसके बाद आपको आपको नीचे नेक्स्ट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

फिर आपको रिकवरी ईमेल आईडी और अलटरनेट मोबाइल नंबर डालना होगा यानि अगर आप अपना यूजरनाम और पासवर्ड भूल जाते है तो आपको इन अलटरनेट मोबाइल नंबर और अलटरनेट ईमेल आईडी का उपयोग कर अपना अकाउंट में login कर सकते है।

इसके बाद आप नेक्स्ट में क्लिक करते ही आपको प्राइवेसी एंड टर्म्स का पेज खुल जाएगा ,नीचे आपको आई एग्री पर क्लिक करना होगा।

इसके बाद आपका जीमेल अकाउंट खुल जाएगा , आप जीमेल अकाउंट सेटिंग्स पर जाकर अपने उपर्युक्त बदलाव कर सकते है।

आपके अकाउंट के इनबॉक्स में आपको मोबाइल नंबर verify करना होगा , इससे आपका मोबाइल नंबर आपके जीमेल अकाउंट से लिंक हो जाएगा और इसी प्रकार आपका ईमेल आईडी बन जाएगा

निष्कर्ष

हमारे इस आर्टिकल में अंत तक जुड़ने के लिए धन्यवाद्। हमें आशा है आपको हमारे आर्टिकल “ईमेल क्या है” से पर्याप्त जांनकारी मिली हो।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply